एचडीएफसी बैंक के सेल्स मैनेजर पर 38 लाख 58 हज़ार रुपए की धोखाधड़ी का आरोप, तीन मामले दर्ज

नीमकाथाना: सुभाष मंडी स्थित एचडीएफसी बैंक में 38 लाख 58 हजार रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। पीड़ितों ने बैंक के फील्ड मैनेजर पर आरोप लगाया। खुलासे के बाद कर्मचारी फरार हो गया। 
बैंक शाखा प्रबंधक व ग्राहको की रिपोर्ट पर कोतवाली पुलिस थाने में शाखा के कर्मचारी सेल्स मैनेजर जितेंद्र सिंह तंवर के खिलाफ झांसे में लेकर धोखाधड़ी करने मामला दर्ज हुआ है। कर्मचारी ने निर्धारित कोड ऑफ कंडक्ट एवं इथिकल स्टैंडर्ड फॉर एम्पलाई का गंभीर उल्लंघन करते हुए धोखाधड़ी की है। मामले को लेकर पीड़ितों ने गुरुवार को बैंक के बाहर प्रदर्शन कर बैंक को खोलने नहीं दिया। सूचना पर पुलिस ने समझाइश कर मामला शांत करवाया।

निजी लाभ के लिए धोखाधड़ी
शाखा प्रबंधक गगन चौपाल ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि पीड़ित ग्राहकों द्वारा बैंक में लिखित शिकायत दर्ज करवाई गई थी। आंतरिक जांच करने पर जितेंद्र सिंह ने निजी लाभ के लिए धोखाधड़ी करने की बात स्वीकार की। ग्राहकों द्वारा पासबुक प्रिंट करवाने पर मामले का खुलासा हुआ।
इस प्रकार किया पैसों का हेरफेर
1. पीड़ित ग्राहक कुलदीप कुमार जाट पुत्र भैरू राम जाट जाति जाट उम्र 37 निवासी गोडावास ने बताया कि सेल्स मैनेजर जितेंद्र ने बैंक में केसीसी के नाम पर व व्यवसाय में ओवर ड्राफ्ट ऋण दिलाने के नाम पर 6 चेक, आर्य होटल के नाम पर दो चेक, खातेदारी भूमि की जमाबंदी, अर्द्धसैनिक बलों में तैनात उसके भाईयों की पे स्लिप मांगी। आरोपी कर्मचारी ने चेकों के माध्यम से 17 लाख 68 हजार रुपए की राशि निकाली। गबन की जानकारी शाखा प्रबंधक ने पीड़ित ग्राहक को दी।

2.पीड़ित ग्राहक धन्नाराम सैनी पुत्र सीताराम सैनी निवासी दीपपुरा ने बताया कि आरोपी कर्मचारी जितेंद्र ने 30 लाख रूपए की ओवरड्राफ्ट लिमिट व 10 लाख रुपए की एफडी के नाम पर चेक लिए। पीड़ित ग्राहक द्वारा किसी को चेक से भुगतान करने पर चेक अनादरित हो गया। बैंक से संपर्क करने पर खाते में राशि नहीं होना बताया। आरोपी कर्मचारी ने 6 लाख का भुगतान किसी अन्य के खाते में ट्रांसफर कर दिया। उसने खुद के फर्जी हस्ताक्षर कर 3 लाख 40 हजार पीड़ित के खाते से निकाल लिए।

3. शाखा प्रबंधक ने मामला दर्ज करवाया हैं। आरोपी जितेंद्र ने 2 लाख 50 हजार व 9 लाख रुपए की निकासी पीड़ित ग्राहकों के खाते से किसी अन्य के खाते में की। आरोपी कर्मचारी द्वारा गबन स्वीकार कर लिया गया है। पुलिस को सूचना देकर मामला दर्ज करवा दिया गया है।

इनका कहना हैं
कोतवाली पुलिस थानाधिकारी बद्री प्रसाद मीणा ने बताया कि आरोपी सेल्स मैनेजर जितेंद्र सिंह तंवर के खिलाफ बैंक में गबन करने को लेकर 3 प्रकरण दर्ज किए गए हैं। मामले में पुलिस जांच कर रही है। आरोपी कर्मचारी को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…  
  विज्ञापन…