बीएसएफ जवान का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार, तिरंगा यात्रा निकाली

नीमकाथाना: ग्राम गुहाला के डेहरा जोहड़ी के बीएसएफ जवान सत्यपाल सिंह यादव मृत्यु हो गई। जवान की शहादत की सूचना जब उनके गांव पहुंची तो गांव में पूरी तरह मातम पसर गया। सत्यपाल सीमा सुरक्षा बल में अपनी सेवाएं दे रहे थे। शहीद की खबर सुनते ही परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया। ग्राम गुहाला के सरपंच बीएल चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि शहीद सत्यपाल की पार्थिव देह गांव पहुंच चुकी है। 
राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। वह वर्तमान समय में पंजाब में अपनी सेवाएं दे रहे थे। शहीद की पार्थिव देह के साथ पहुंचे अधिकारी ने बताया कि करीब 2 महीने पहले जंगली जानवर के काटने के कारण जवान को रेबीज हुआ था। 16 मार्च को जवान सत्यपाल का अचानक स्वास्थ्य खराब हो गया। इसी दौरान सिंह करीब 1 महीने तक कोमा में रहे। कल उनका देहांत हो गया था।
तिरंगा यात्रा निकाली, यात्रा पर फूल बरसाए
अंतिम संस्कार के पहले शहीद सत्यपाल सिंह यादव की शहीद यात्रा निकाली गई। विभिन्न सामाजिक संगठनों के नेतृत्व में जाबांज जवान को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों की भीड़ जुटी। सुबह 9:00 बजे नाका खुडालिया से शहीद यात्रा शुरू हुई। जो उनके निवास स्थान ढाणी सरूपावाली तक निकाली गई। इस दौरान लोगों ने रास्ते में फूल बरसाए। 

शहीद की अंत्येष्टि में आए विधायक सुरेश मोदी ने शहीद के पार्थिव देह पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि शेखावाटी मात्र एक ऐसा क्षेत्र है जहां से सेना सबसे से ज्यादा युवा भर्ती होते है। यहां के हर युवा के दिल में देशभक्ति का जज्बा है। इस दौरान एसडीएम बृजेश गुप्ता, पूर्व सरपंच वीरेंद्र यादव, गोपाल सैनी, सदर थानाधिकारी कस्तूर वर्मा सहित बीएसएफ जवान मौजूद रहे।
Previous Post Next Post