अगर शोषण से मुक्त होना, तो विधि से जागरूक होना आवश्यक: अधिवक्ता दर्शनसिंह



नीमकाथाना। राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय खेतड़ी मोड़ में नालसा / रालसा द्वारा संचालित तालुका विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन हुआ। जिसकी अध्यक्षता प्राचार्य शेरसिंह ने की। शिविर में उपस्थित छात्राओं को अधिवक्ता दर्शन सिंह ने बताया कि अगर शोषण से मुक्त होना है तो विधि से जागरूक होना आवश्यक है बाल विवाह प्रतिषेध व इंटरनेट के उपयोग व प्रतिषेध को बताया। अधिवक्ता राजेंद्र सिंह चौधरी ने पराक्रम लिखित अधिनियम एवं लोक अदालत के बाबत में विस्तृत रूप से बताया। शिविर में ताराचंद कुमावत,पीएलवी चंदन करोटवान, हरि सिंह जाखड़ सतपाल सिंह ,अमृत शर्मा ,समाजसेवी नीतीश शर्मा व अध्यापक ने आगामी सरकारी बहुमुखी योजनाओं को जन जन तक पहुचने तथा उनके उपयोग हेतु जागरूक रहने की सलाह दी।
Previous Post Next Post