छोटे से गांव बोपिया में संचालित है तीन शराब की अवैध ब्रांचे, ग्रामीणों का जीना दूभर

पाटन-निकटवर्ती ग्राम पंचायत छाजा की नांगल के राजस्व ग्राम बोपिया में इन दिनों तीन अवैध शराब की ब्रांचे संचालित है जिस कारण बोपिया गांव के लोगों का जीना दूभर हो गया है। गांव के लोगों ने बताया कि हाल ही में छाजा की नांगल के अंतर्गत आवंटित शराब की दुकान के अधीन ग्राम बोपिया में तीन अवैध शराब की ब्रांच लगाई गई है जो एक दुकान बोपिया के एससी मोहल्ले में दूसरी दुकान संस्कृत स्कूल के आगे और तीसरी दुकान श्मशान भूमि वाले रास्ते पर गैस एजेंसी के नजदीक चल रही है जो नियमानुसार गलत है। छोटे से गांव में तीन तीन ब्रांच लगाकर शराब वाले लोग अपनी रिकवरी करने में लगे हुए हैं क्योंकि हाल ही में जो दुकाने ऑनलाइन छोड़ी गई थी उनकी कीमतें बहुत अधिक बढ़ गई थी जिसको पूरा करना भी ठेकेदारों के लिए जरूरी हो गया है। यही हालात अन्य जगहों के भी है जहां अवैध रूप से शराब की ब्रांचे चल रही है परंतु आबकारी विभाग इन अवैध ब्रांचों की तरफ कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है जिस कारण अब गांव गांव ढाणी ढाणी में शराब की बिक्री दिन रात जोरों पर देखने को मिल सकती है।
नंही हो रही है मुख्यमंत्री के आदेशों की पालना --प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत के सख्त आदेश है कि शराब की दुकाने सुबह 10 बजे से शाम 8 बजे तक खोली जाएं अगर घोषित समय से पहले एवं बाद शराब की दुकानें खुलती है तो उन पर नियमानुसार कार्रवाई होनी जरूरी है परंतु इन दिनों क्षेत्र में जहां जहां भी शराब की दुकानें हैं वहां पर मुख्यमंत्री के कोई भी नियम की पालना नहीं हो रही है। विभाग को अवगत करवाए जाने के बाद भी जब विभाग कार्यवाही नहीं करें तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि भ्रष्टाचार किस कदर हैवी हो रहा है। नियमों की पालना नहीं करवाने वाले भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ समय रहते कार्रवाई होना जरूरी है ताकि क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी रहे।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…