ग्राम पंचायत को अजीतगढ़ में जोड़ने का है मामला

नीमकाथाना।ग्राम पंचायत चुनावों के अंतिम चरण में शनिवार को विभिन्न  ग्राम पंचायत के चुनाव संपन्न हुए लेकिन लादी का बास ग्राम पंचायत के मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग नहीं किया । लादी का बास ग्राम पंचायत पूर्व में पाटन पंचायत समिति के अंतर्गत आता था लेकिन इस बार लादी का बास ग्राम पंचायत को अजीतगढ़ में जोड़ दिया इसी के चलते ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार करने का फैसला लिया।


किसी भी प्रत्याशी ने नहीं भरा था पर्चा लादी का बास को अजीतगढ़ पंचायत समिति में जोड़ने के बाद पहली बार चुनाव होने जा रहे हैं लेकिन सभी ग्रामीण ने एकमत होकर चुनावों के बहिष्कार का फैसला लिया गया ग्राम पंचायत के किसी भी सदस्य ने ना तो सरपंच पद और ना ही पंच पद पर आवेदन किया था। निर्वाचन अधिकारी लंबे इंतजार के बाद वापस लौट गए थे  तथा उच्च अधिकारियों को गांव की वस्तु स्थिति के बारे में अवगत करवाया था। 


पाटन पंचायत समिति में जोड़े जाने तक करेंगे चुनाव का बहिष्कार ग्रामीणों का कहना है कि जब तक लादी का बास ग्राम पंचायत को अजीतगढ़ पंचायत समिति से हटाकर पाटन पंचायत समिति में  नहीं जोड़ा जाता तब तक गांव के लोग चुनाव का बहिष्कार करते रहेंगे। 

शनिवार को ग्राम पंचायत चुनाव के चुनाव संपन हुए लादी का बास ग्राम पंचायत में  पंच व सरपंच पद के लिए अंतिम चरण में यानी आज संपन्न होने थे चूंकि  किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल नहीं किया इसलिए चुनाव संपन्न नहीं हो पाए।

ये थे मुख्य कारण लादी का बास के  लोगों का चुनाव बहिष्कार करने का मुख्य कारण पाटन क्षेत्र  से आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक कार्य ,तथा पाटन क्षेत्र के लोगों से जुड़ा है जबकि अजीतगढ़ से लादी का बास ग्राम पंचायत की कनेक्टिविटी नहीं के बराबर है।

दोबारा होगा तारीखों का ऐलान निर्वाचन अधिकारी के अनुसार यदि किसी ग्राम पंचायत में किसी कारणवश चुनाव संपन्न नहीं हो पाए तो निकट भविष्य में तारीखों का ऐलान कर दोबारा चुनाव कराए जाएंगे।


- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।