नीमकाथाना/पाटन। पाटन पुलिस ने कार्यवाही करते हुए रायल्टी नाके पर लूट के मामले में मुख्य अभियुक्त हिस्ट्रीशीटर सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक डॉ गगनदीप सिंगला के निर्देशों पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतन लाल भार्गव, पुलिस उपाधीक्षक सांवरमल नागौरा के निकटतम सुपरविजन में एक टीम का गठन किया गया।
जिसमें थाना अधिकारी नरेंद्र कुमार के नेतृत्व में टीम बनाई गई। टीम ने रॉयल्टी नाके पर हुई लूट के मामले में मुख्य अभियुक्त हिस्ट्रीशीटर सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

यह था मामला
14 सितंबर को परिवादी श्रीराम किशन सिंह पुत्र मोहन सिंह जाति राजपूत निवासी ग्राम दांतिल प्रागपुरा जयपुर हाल इंचार्ज रॉयल्टी नाका बोपिया ने थाने में उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसमें बताया कि हमारी कंपनी का नीमकाथाना में पत्थर की रॉयल्टी का ठेका है। जिसमें मैं इंचार्ज के पद पर कार्य करता हूं। 13 सितंबर को करीब 2:15 बजे नाके पर बैठा था। मुझे सूचना मिली की 5-7 बदमाशों ने हमारे डोकन नाके पर तोड़फोड़ की है। वहीं लगभग 3:00 बजे बोपिया नाके पर भी एक मेजर गाड़ी आई हमारे टेबल कुर्सी के टक्कर मारी तथा आते ही हम से मारपीट करने लग गए। मारपीट में मेरा हाथ टूट गया तथा जीतू के सिर में गंभीर चोट आई, सतवीर सिंह के दोनों पैरों में तथा हाथ के चोट आई है तथा जगदेव सिंह के हाथ में तथा कमर पर चोट आई वहां से जान बचाकर भागा तो मेरे पीछे दो बार फायर किया। उक्त लोगों के भय से हम सब जान बचाकर भागे। हमने पता किया तो हमें कुछ लोगों की भूमिका संदिग्ध लग रही है। हमें पिंटू शर्मा बोपिया, अमित नेहरा जाट वास, सतवीर खाड़ा, सवाई खाड़ा, सीताराम मोलेडा, ईक्का गुर्जर टोरडा, महेंद्र बोपिया की भूमिका संदिग्ध लग रही है। इनमें से कई दिनों से मंथली के लिए धमकी दे रहे हैं। हमें बोलते थे कि हमें या तो पैसा दो वरना डिस्टर्ब करेंगे। जिस पर पुलिस ने मुख्य अभियुक्त हिस्ट्रीशीटर सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने इन आरोपियों को किया गिरफ्तार
थानाधिकारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि टीम द्वारा प्रकरण में नामजद आरोपी की तलाश  के लिए तकनीकी साक्ष्य जुटाकर मुखबीर से सूचना सलंगन कर महेंद्र पुत्र श्योराम निवासी बोपिया, महेंद्र पायला पुत्र बिरजू निवासी बड़ा वास कोटपूतली जयपुर, पिंटू उर्फ भवानी शंकर पुत्र सोमदत्त निवासी बोपिया को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों से घटना में काम में ली गई डीआईजी बरामद की जा चुकी है। वहीं आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही है। प्रकरण में शेष मुलजिम की गिरफ्तारी हेतु विशेष टीम का गठन कर रवाना किया गया है।

रॉयल्टी नाके में हिस्सेदारी के उद्देश्य से दिया घटना को अंजाम
थाना अधिकारी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ पर पता चला कि उक्त आरोपी रॉयल्टी नाके में हिस्सेदारी एवं काम करने के उद्देश्य से घटना को अंजाम दिया। वही अभियुक्त स्थानीय एवं अपनी बदमाश छवि का उपयोग कर रॉयल्टी में काम प्राप्त करना चाहता था इसको लेकर वारदात को अंजाम दे दिया।

विभिन्न मामलों में वांछित है आरोपित
थानाधिकारी ने बताया कि अभियुक्त महेंद्र पुत्र शयोराम पाटन थाने का हिस्ट्रीशीटर है जो 2 माह पहले राजू रेला हत्याकांड के मामले में जमानत पर बाहर आया था, आरोपी महेंद्र के खिलाफ आर्म्स एक्ट लूट, हत्या डकैती के करीब 13 मामले दर्ज हैं। वही आरोपी पिंटू उर्फ भवानी शंकर के खिलाफ लूट मारपीट आर्म्स एक्ट के करीब 7 मामले दर्ज हैं। वही महेंद्र पायला के तीन मामले विचाराधीन है।

इनकी रही अहम भूमिका
रॉयल्टी नाके पर हुई लूट के मामले में थाना अधिकारी नरेंद्र बढ़ाना के नेतृत्व में हरिराम, शंकरलाल, संदीप, नत्थू सिंह व देशराज की आरोपियों को गिरफ्तार करने में अहम भूमिका रही है।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।