डिजिटल नीमकाथाना टीम की तरफ से स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...

News Update

विधायक ने जनता को गुमराह करने के लिए विधासनभा में उठाए सवाल- खंडेलवाल


रैला मांईसो में विधायक मोदी पर बड़ी डील होने का भी लगाया आरोप
नीमकाथाना-शहर के स्थानीय विधायक ने विगत 24 जुलाई को विधानसभा में अपने क्षेत्र की चार बिंदूओं की मांग रखी थी। जिसपर पूर्व विधायक रमेश खंडेलवाल ने अपने कार्यालय में प्रेस वार्ता की। जिसमें बताया कि स्थानीय विधायक सुरेश मोदी ने विधानसभा में चार बिंदूओं की मांग रखी हैं जो हास्यसपद हैं। जिसमें राजस्थान सरकार एवं राजस्थान की जनता को गुमराह करने का काम किया हैं। जबकि नीमकाथाना क्षेत्र में इसका रोल अलग हैं जिन अधिकारियों के बारे में कहा कि विगत 2016 में ईओ सलीम खान एवं जेईएन मनीष सिंह ने गैर कानूनी तरीके से भूदोली रोड़ पर अतिक्रमण की कार्यवाही को अंजाम देकर जनता को सताया और जनता को बर्बाद किया था। जनता को उचित मुआवजा दिलाने को लेकर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर विस में प्रश्न उठाया हैं जबकि ये दोनों अधिकारी विधायक मोदी के चेहते होने बताए। विधायक बनते ही सबसे पहले अपने कार्यकाल में जेईएन की पदोन्ति करवाई और ईओं का ट्रांसफर करवाकर दोबारा नीमकाथाना लगाया। लेकिन शहर की जनता को गुमराह करने के लिए विधानसभा में इन अधिकारियों के खिलाफ ही आवाज उठा रहे हैं। विधायक ने दुसरी मांग नगरपालिका वार्ड परीसीमन में पैराफेरी क्षेत्र को शहरी क्षेत्र में शामिल किया जावें। जिसपर पूर्व विधायक खंडेलवाल ने इस बयान को पूरी तरह से गलत बताया है कि परीसीमन का आदेश जून माह में आ गया था। अपनी मनमर्जी से 25 से 35 वार्डो का विस्तार कर दिया। जिसकी आपति 15 जुलाई थी जो जा चुकी। परीसीमन होने से पहले एक बार भी नगरपालिका में मिटिंग नहीं बुलाई गई।
उसके बाद में विस में पैराफेरी क्षेत्र को शहरी क्षेत्र में शामिल करने के लिए बयान देकर क्षेत्र की जनता को गुमराह करने का काम किया। वहीं फाटक नंबर 76 पर अंडरपास बनाने को लेकर बयान दिया गया जिसपर पूर्व विधायक खंडेलवाल ने कहा कि रेलवे ने एक साल पहले ही नगरपालिका को भूमि अधिग्रहण को लेकर पत्र जारी कर दिया था। जिसकी जिम्मेदारी स्थानीय नगरपालिका अध्यक्ष की बनती हैं। पालिका बोर्ड मिटिंग में एक बार भी भूमि अधिग्रहण को लेकर बात नहीं कही। अंडरपास को लेकर विगत एक माह से अधिक संघर्ष समिति का धरना भी जारी हैं। वहीं पूर्व विधायक ने वर्तमान विधायक पर आरोप लगाया है कि  पाटनवाटी में रैला माईंसों में मोदी विधायक एक बहुत बड़ी डील का शिकार हो रहे हैं कभी मांईसों को बंद करवाते है तो कभी चालू करवाते हैं। इन सभी मांगों पर विधायक मोदी की बड़ी डील हुई थी जो वो डील बिगड़ गई जिसपर विधानसभा में इन चार बिंदूओं पर बयान देकर जनता को गुमराह किया जा रहा हैं।