नीमकाथाना की हर खबर सिर्फ नीमकाथाना न्यू.इन पर...

News Update

पीएम मोदी की चुनावी सभा भाषण की शुरुआत मारवाड़ी से की, कहा-शेखावाटी की पहचान-दाल बाटी चूरमा और यहां के सूरमा

नीमकाथाना न्यूज़- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जिला स्टेडियम में चुनावी सभा को संबोधित किया। मोदी ने भाषण की शुरुआत मारवाड़ी में की। मोदी पांच मिनट तक मारवाड़ी में बोले। मोदी ने भारत माता की जय, जीणमाता और खाटू नरेश का जयकारा लगाया।

Image result for modi rally sikar

उन्होंने कहा कि शेखावाटी की धरती को रुतबो ऊंचो, आ बात कहवै कूंचों-कूंचों। शेखावाटी को सारे देश में न्यारो ही डंका बाजे है। अठै री मातावां आपका टाबरां न देश की रक्षा का पाठ पढ़ावै है। म्हाने ई धरती पर आकर बहुत गर्व हो र् यो है। शेखावाटी की दो कारणों से पहचान है, दाल बाटी-चूरमा आैर शेखावाटी के सूरमा। सीकर की धरती ने परमवीर चक्र विजेता पीरू सिंह शेखावत समेत कई वीरो को जन्म दिया।

मोदी ने कहा, पिछली बार अशोक गहलोत प्रदेश में सरकार चला रहे थे। उस दौरान खबरें आती रहती थी कि दुष्कर्म के आरोप में उनका विधायक-मंत्री जेल गया।

मोदी ने 53 मिनट के भाषण में एक बार राहुल-सोनिया गांधी और दो बार पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत का नाम लिया। बाकी समय नामदार और उनकी पार्टी के जरिए कांग्रेस पर शब्द बाण चलाते रहे।

आज वही कांग्रेस ज्यादती के आरोप में जेल काट रहे नेताओं के परिजनों को टिकट देती है। कांग्रेस उन्हें कंधे पर बैठाकर नाच रही है। ऐसी पार्टी को कोई माता-बहन प्रदेश में न घुसने दें। कांग्रेस ने हवा बनाई कि भाजपा हार रही है। सालभर खूब खर्चा किया। चुनाव नजदीक आते-आते माहौल बदलता देख कांग्रेस पिछड़ गई।

कांग्रेस में राजगद््दी को लेकर खींचतान शुरू हो गई। किसी ने राज दरबारी और नामदार के सेवक अशोक गहलोत को सीएम के बारे पूछा तो उन्होंने जवाब दिया कि भाई तुम पूछ रहे हो कि मुख्यमंत्री कौन बनेगा। क्या तुम बता सकते हो कि कौन बनेगा करोड़पति। ये जवाब उनके इरादों की पहचान बताता है।

मोदी बोले-शौर्य, साैदर्य, शिक्षा, संस्कार 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीकर को शौर्य, सौंदर्य, शिक्षा और संस्कार की धरती बताया। उन्होंने शेखावाटी के जवान, महिला जागरूकता, बेटियों की सुरक्षा और किसानों पर फोकस किया। 7 दिसंबर को चुनाव है। नरेंद्र मोदी के भाषण के सियासी मायने कुछ तरह से समझे सकते हैं...

1. महिला सुरक्षा : आपके वोट से बना दुष्कर्म के आराेपियों को फांसी देने का कानून

मोदी ने कहा, हमारी सरकार ने दुष्कर्म करने वालों को फांसी देने का कानून बनाया। यह मोदी ने नहीं किया। बल्कि आपके वोट की ताकत है। आरोपियों को कम से कम समय में सजा दिलाकर वसुंधरा सरकार ने देश-दुनिया में रिकार्ड कायम किया है।

सियासी मायने : जिले में 9 लाख 43 हजार महिला वोटर है। सरकार की उपलब्धि बता मोदी ने सीधे महिला मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास किया।

2. किसान : सोने की चम्मच लेकर पैदा होने वाले नामदार नहीं जानते मूंग-मसूर का रंग

नरेंद्र मोदी बोले- सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए नामदार मूंग-मसूर का रंग नहीं जानते हैं। 2008 में कर्ज माफी का वादा किया। किसानों के 6 लाख करोड़ में से सिर्फ 58 हजार करोड़ माफी का दावा किया। सीएजी की जांच में वह भी झूठा निकला।

सियासी मायने : जिले के साढ़े तीन लाख किसान परिवारों में करीब 13 लाख मतदाता है। मोदी ने कर्जमाफी में हुए धोखे की बात पर सहानुभूति बटोरने की कोशिश की।

ये रहे मंच पर मौजूद : केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह, यूपी के उप मुख्यमंत्री सीएम कैशवप्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी, सांसद सुमेधानंद सरस्वती, कार्यक्रम संयोजक व पूर्व जिलाध्यक्ष हरिराम रणवां, जिला संगठन प्रभारी काशीराम गोदारा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन भाजपा नेता डा. बलवंत सिंह चिराना ने किया।

3. जवान : सर्जिकल स्ट्राइक की फोटो मांग सेना का अपमान कर रही है कांग्रेस

मोदी ने कहा, सीकर का जवान देश की रक्षा में जान की बाजी लगा देता है। लेकिन कांग्रेस आए दिन हमारी सेना का अपमान करती है। सेना के जवान सर्जिकल स्ट्राइक करके वापस आए तो कांग्रेस का चेहरा मुरझा गया। आपने जब सुना कि सर्जिकल स्ट्राइक की है। आपको शक हुआ क्या, नहीं ना? क्योंकि आपकाे सेना पर भरोसा है। कांग्रेस कहती है झूठ बोल रहे हो। सर्जिकल स्ट्राइक का फोटो दिखाओ। भाई, सर्जिकल स्ट्राइक में जवान कैमरा लेकर गया था या बंदूक।

सियासी मायने : सीकर में 13 हजार पूर्व सैनिक है। 17 हजार से ज्यादा वर्तमान सैनिक हंै। यानी 30 हजार परिवार पर फोकस करने की कोशिश की गई। शहीदों के परिजनों तक पहुंच बनाने की कोशिश की।

4. शेखावाटी की धरती को मोदी ने प्रेरणादायी बताया 

मोदी ने सीकर और झुंझुनूं की धरती को प्रेरणादायी बताया। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को लेकर वसुंधरा सरकार के काम गिनाए। बेटी को आन बान और शान का प्रतीक बताया। सात साल पहले 1 हजार बेटों पर 850 बेटियां थी। क्योंकि गर्भ में बेटियों को मारा दिया जाता था। लेकिन महिलाओं ने इस स्थिति को बदलने का बीड़ा उठाया। आज यहां लिंगानुपात 960 है। जिस दिन यह एक हजार हो जाएगी। उस दिन सबसे बड़ी खुशी होगी।

सियानी मायने : मतदाता सूची में शामिल 20 फीसदी युवा बेटे-बेटियों पर फोकस किया। जो आने वाले समय में जीवन का नया सफर तय करेंगे। जिनकी इस सामाजिक समस्या को दूर करने में अहम भूमिका होगी।

 सीकर प्रत्याशी रतनलाल जलधारी ने कहा, सरकार ने स्मृति वन के विकास, सीवरेज, ड्रेनेज सहित विभिन्न प्रोजेक्ट मंजूर किए। शिक्षा व चिकित्सा के क्षेत्र में खूब काम किया।

 श्रीमाधोपुर प्रत्याशी झाबर सिंह खर्रा ने कहा, देश और राज्य में मोदी और राजे सरकार में ऐतिहासिक काम हुए। गांव के गरीब तक सरकार पहुंची। अब जनता की बारी है।

 नीमकाथाना प्रत्याशी प्रेमसिंह बाजौर : अब विकास के तौर सीकर की पहचान बनानी है तो केंद्र व राज्य सरकार की एकजुटता बनाए रखें। सात तारीख को भाजपा को समर्थन दें।

 खंडेला प्रत्याशी बंशीधर बाजिया ने कहा, मोदी सरकार ने सीकर को मेडिकल कॉलेज की सौगात दी। वसुंधरा सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया। रोजगार के रास्ते खोले गए।

 फतेहपुर प्रत्याशी सुनीता जाखड़ ने कहा, केंद्र व राज्य में भाजपा सरकार होने का फायदा पूरे प्रदेश की जनता को मिला है। महिला सुरक्षा को लेकर सरकार द्वारा बेहतर काम किए गए हैं।

 धोद प्रत्याशी गोरधन वर्मा ने कहा, पिछले चुनाव में आपने सात दिसंबर तक की वेलिडिटी दी थी। विकास की रफ्तार को बनाए रखने के लिए अब धमाके से नया रिचार्ज करना होगा।

 दांतारामगढ़ प्रत्याशी हरीश कुमावत ने कहा, भाजपा ने हर वर्ग के लिए काम काम किया है। सरकार ने जिस तरह से जनता को दिया। जनता उसी भावना के साथ भाजपा को समर्थन दे।

 लक्ष्मणगढ़ प्रत्याशी दिनेश जोशी ने कहा, दो दिन का समय है। ईमानदारी से जुटेंगे तो जीत भी निश्चित है। लोगों में भाजपा के प्रति काफी उत्साह है। कार्यकर्ता इस उत्साह को बनाए रखें।
source- Dainik Bhaskar

No comments