पाटन: जवाहर नवाेदय विद्यालय में रविवार काे मेगा विधिक जागरूकता एवं जनकल्याण शिविर लगाया गया। शिविर में प्रशासन द्वारा विभिन्न विभागाें से प्राप्त सैकड़ाें अावेदनाें काे माैके पर ही निस्तारित कर अामजन का राहत प्रदान की।

राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश वीएस सिराधना ने कहा कि लाेक कल्याणकारी राज्य में विधिक जागरुकता का अाशय तभी सफल हाे सकता है, जब समाज में अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक न्याय अाैर उसके लिए बनी कल्याणकारी याेजनाएंं त्वरित गति से पहुंचे। समाज का काेइ भी व्यक्ति अर्थाभाव में न्याय से वंचित न हाे।

जिला जज अभय चतुर्वेदी ने कहा कि  विकसित समाज में न्याय की उपलब्धता सबके के लिए  समान अाैर सहज उपलब्ध हाे, एेसा प्रयास जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माधयम से किया जा रहा है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एडीजे लक्षमराम विश्नाेई ने कहा कि न्याय के दरवाजे साेने की चाबियाें से नहीं खुलकर पीड़ित की पुकार पर खुलें, तभी हम न्याय सबके लिए के ध्येय वाक्य काे चरितार्थ कर पाएंगे।

कलेक्टर नरेश कुमार ठकराल, एसपी राठाैड़ विनित कुमार ने भी संबाेधित किया। बीएसअाे महेन्द्र यादव ने बताया कि शिविर में सहकारिता विभाग ने 13 लाेगाें काे 20 लाख का ऋण, राजस्व विभाग ने 10 लाेगाें काे साढे़ चार लाख की सहायता, बीजली निगम ने 10 लाेगाें काे माैके पर ही कनेक्शन, रसद विभाग ने एक दर्जन लाेगाें काे गैस कनेक्शन, महिला एवं बाल विकास विभाग ने करीब पांच दर्जन लाेगाें काे सहायता उपलब्ध करवाई।

वहीं पंचायत समिति नीमकाथाना अाैर पाटन ने दाे दर्जन लाेगाें काे पट्टे उपलब्ध करवाए। सामाजिक न्याय अाैर अधिकारिता विभाग ने करीब 50 लाेगाें काे ट्राइसाइकिल अाैर अन्य सहायक उपकरण उपलब्ध करवाए। मंच संचालन राकेश लाटा ने किया।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।