नीमकाथाना न्यूज़ के लक्की में ड्रा भाग लें

News Update

सात थानों की पुलिस ने सात घंटे तक सर्च ऑपरेशन चला मासूम को छुड़वाया, अपहरणकर्ता भी गिरफ्तार

दयपुरवाटी से दो दिन पहले अगवा किए गए मासूम युवराज को पुलिस ने महिला कंडक्टर की मदद से छुड़ा लिया। पुलिस ने अपहरणकर्ता प्रकाश बावरियां को रविवार को दादिया इलाके से गिरफ्तार कर उसके कब्जे से युवराज को छुड़ा लिया।

अपने माता-पिता के साथ युवराज
पुलिस ने उदयपुरवाटी में युवराज को परिजनों को सुपुर्द कर दिया। इससे पहले रविवार सुबह झुंझुनूं पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी सीकर के उद्योगनगर इलाके में है। झुंझुनूं व सीकर के सात पुलिस थानों ने सुबह 11 से शाम 6 बजे तक सर्च ऑपरेशन किया।

इसमें उद्योगनगर, सदर, दादिया, उदयपुरवाटी, मंडावा व उदयपुरवाटी की पुलिस टीम शामिल थी। शाम साढ़े पांच बजे सूचना मिली कि आरोपी प्रकाश दादिया इलाके में है। पुलिस टीम में दादिया के कटराथल की उदयलाल की ढाणी में दबिश दी और मासूम को कब्जे से छुड़ा आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

महिला कंडक्टर की मदद से आरोपी तक पहुंची पुलिस

शुक्रवार शाम को उदयपुरवाटी के वार्ड23 में किशोर मेघवाल का बेटा युवराज (3) घर के बाहर खेल रहा था। इस दौरान आरोपी दादिया निवासी प्रकाश बावरियां(25) नेयुवराज का अपहरण कर लिया था। आरोपी युवराज को लेकर बस स्टैंड पर पहुंचा।

नीमकाथाना से सीकर आ रही रोडवेज में चढ़ा। उसके हाथों में युवराज था। महिला कंडक्टर सुनीता बिजारणियां को 20 रुपए देकर पिपराली का टिकट देने के लिए कहा। सुनीता ने टिकट दे दिया। प्रकाश के पास बच्चा सहमा सा बैठा था। पिपराली आने पर प्रकाश बस से नहीं उतरा। थोड़ा आगे आने पर उतरने के लिए चिल्लाने लगा। थोड़ी आगे बस रुकी तो प्रकाश ने युवराज को घसीटते हुए बस से नीचे उतारा।

एक बार तो कंडक्टर को शक हुआ, लेकिन कुछ बोल नहीं सकी। रविवार सुबह सूचना मिली कि उक्त हुलिए का आदमी एक बच्चे को लेकर रोडवेज में बैठा था। पुलिस ने रविवार सुबह सुनीता को थाने में बुलाया। सुनीता से मिले क्लू केअाधार पर पुलिस ने उद्योगनगर, सदर व दादिया में पूछताछ की। शाम को सूचना मिली कि प्रकाश दादिया इलाके में छिपा हुआ हैऔर पुलिस नेआरोपी को पकड़ लिया।

पहले भी एक बच्चे का अपहरण कर चुका है आरोपी प्रकाश

युवराज को ढूंढने के लिए पुलिस लाइन से जाप्ता बुलवाया गया था। इलाके की जिन महिलाओं ने आरोपी को देखा था उन महिलाओं ने पूरे दिन थाने में रहकर आरोपी का स्केच तैयार करवाया था। प्रकाश नेयुवराज का अपहरण किस मकसद से किया था, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है।

प्रकाश को नशे की हालात में पकड़ा है, जो कुछ बताने की स्थिति में नहीं है। पूछताछ के बाद ही खुलासा हो पाएगा। प्रकाश ने पहले भी एक बच्चे की अपहरण की वारदात को अंजाम दिया था। जिसे भी बाद में आरोपी के चंगुल सेछुड़ाया गया था।
header ads