पाटन में भारतीय साहित्य एवं स्वाधीनता संग्राम कालीन क्षमता के उपलक्ष में कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

नीमकाथाना: क्षेत्र के उप तहसील पाटन में अखिल भारतीय साहित्य परिषद पाटन प्रांतीय संगठन का भव्य आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य कार्यक्रम की थीम स्वाधीनता संग्राम कालीन साहित्य में सामाजिक समता पर आधारित रही।इस कार्यक्रम में श्री श्री 108 कपूर गिरी महाराज बालेश्वर धाम एवं आचार्य भरत नाथ महाराज भोपिया आश्रम ने भारतीय साहित्य स्वाधीनता संग्राम कालीन एवं सामाजिक समानता के विषय पर अपने विचार प्रकट करते हुए जीवन मे इसके पहलुओं के बारे में बताया।

राजस्थान प्रदेश सैनिक प्रकोष्ठ सह संयोजक वीरांगना कविता सामोता ने प्रतिभागियों को संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता ओम प्रकाश भार्गव ने की एवं मुख्य अतिथि प्रद्युमन वर्मा रहे। बीज वक्तव्य डॉ केशव शर्मा तथा विशिष्ट अतिथि राजेंद्र कुमार शर्मा एवं उद्घोषक के रूप में जगदीश माली उपस्थित रहे।
इस दौरान सभी मुख्य अतिथि पदाधिकारियों एवं वीरांगना कविता सामोता का दुपट्टा एवं माला पहनाकर सम्मान किया गया। 

शाम को पूर्णिमा के अवसर पर इस कार्यक्रम में कवि संगोष्ठी का भी आयोजन किया जिसमें प्रसिद्ध कवि बलबीर सिंह करुणा उमेश चंद्र कल्याण सिंह शेखावत कमलनयन राजेंद्र गौड़ रमाकांत शर्मा गिरिराज शास्त्री राधेश्याम भार्गव विष्णु शर्मा धर्मपाल कमलकांत शर्मा प्रदुमन वर्मा  धुडाराम पदम गुरुदयाल भारती राजेश गिरधर सिंह सुरेंद्र सहित अनेक प्रसिद्ध कवियों ने अपनी कविता के माध्यम कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

कार्यक्रम में संतोष भार्गव महिला जिला संयोजिका, संपत कवर कोटपुतली नगर संयोजक, उषा शर्मा सह नगर संयोजिका एवं कार्यकर्ता नीलू शर्मा कमलेश सैनी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…