सड़क निर्माण में नगरपालिका व सार्वजनिक निर्माण विभाग की उजागर हुई अनियमित्ताएं

खेतड़ी मोड़ से गांवड़ी मोड़ तक बनने वाली सड़क का है मामला

नीमकाथाना: खेतड़ी मोड़ से गांवड़ी मोड़ तक बनने वाली सड़क को लेकर भरी अनियमित्ताए सामने आई है। उपखंड स्तर जनसुनवाई के दौरान आरटीआई एक्टिविस्ट जुगल किशोर और भाजपा पार्षदों ने शिकायत देकर अवगत करवाया। खेतड़ी मोड़ से गांवड़ी मोड़ तक जो सड़क निर्माण हो रहा है। उसके लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने 84 फुट जमीन सार्वजनिक निर्माण विभाग की है। फिर भी सड़क का कार्य लगभग 60 फुट में ही चल रहा है। 20 फुट जमीन अतिक्रमण युक्त है। 

सड़क निर्माण से पूर्व 20 फुट सड़क की जमीन को खाली करवाने के लिए 91 ए की कार्यवाही क्यों नही की गई। सड़क के दोनो तरफ वर्षों पुराने शीशम, नीम सहित अनेक पेड़ लगे हुए थे। उन पेड़ो को शिफ्ट करने का सार्वजनिक निर्माण विभाग से नगर पालिका नीमकाथाना को पत्र लिख कर स्वीकृत दी गई थी, लेकिन पेड़ शिफ्ट करने का टेंडर देने से पूर्व पेड़ों को शिफ्ट करने की जगह चिन्हित नही की गई।
 इन पेड़ों को 84 फुट सड़क की सीमा में ही शिफ्ट कर दिया गया। शिफ्ट करने के लिए बड़े पेड़ों की कटाई छ्टाई की गई। उनसे प्राप्त महंगी लकड़ी का क्या किया गया। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने लकड़ी प्राप्त होना नही बताया। 

सड़क निर्माण के समय बिजली के खंबे और वायर भी शिफ्ट करने का काम किया गया। बिजली के खंबे और वायर भी 84 फुट रोड सीमा में लगा ही नही दिए गए बल्कि जहां पेड़ शिफ्ट किए गए उन्ही के पास लगा दिए। जिससे उनके तार उन पेड़ो के ऊपर से होकर गुजर रहे है। 
पेड़ और खंभों के शिफ्टिंग में सरकारी धन का व्यर्थ खर्च, बिना किसी योजना के करने के पीछे क्या मकसद था। इस दौरान  एक्टिविस्ट जुगल किशोर, पार्षद महेंद्र गोयल, जयप्रकाश लोढ़ा, मन्ना लाल सैनी, अशोक वर्मा सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

इनका कहना हैं 

सड़क निर्माण का कार्य सार्वजनिक निर्माण विभाग करवा रहा है, पेड़ो की कटिंग वाली लकड़ी फायर स्टेशन पर सुरक्षित रखी है

सूर्यकांत शर्मा
अधिशाषी अधिकारी 
नगर पालिका नीमकाथाना।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…