ग्रामीणों ने क्रेशर मालिक के खिलाफ सौंपा ज्ञापन, जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया

नीमकाथाना: उपखंड के राजस्व ग्राम दयाल की नांगल के भूमि खसरा नम्बर 106/1 रकबा 0.2450 हैक्टर मे स्थित केशर से होने वाले प्रदूषण एवं जबरन रास्ता निकालने एवं शिकायत करने पर धमकी देने को लेकर दर्जनों ग्रामीणों ने क्रेशर मालिक के खिलाफ कार्यवाही को लेकर तहसीलदार दिनेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने ज्ञापन में अवगत कराया कि ग्राम दयाल की नांगल के भूमि खसरा नम्बर 106/1 रकबा 0.2450 हैक्टर मे गणेश स्टोन केशर स्थित है जो रात दिन चलता रहता है। जिससे बहुत तेज शोर शराबा होता है। एवं पत्थर पीसने के कारण बहुत तेज डस्ट (पत्थर की मिट्टी) उडती रहती है। जिससे आमजन को बहुत परेशानी हो रही है। केशर के पास आबादी भी बसी हुई है, जो लगभग 150 फुट की दूरी पर ही स्थित है। उक्त स्टोन केशर नीमकाथाना मेहाड़ा स्टेट हाईवे 13 ए से महज 150 फुट दूर ही है। 

ग्रामीणों का जान का खतरा

केशर मालिक रसुकदार एवं प्रभावशाली व्यक्ति है। जब उक्त शिकायतों के बारे मे मालिक सतवीर गुर्जर, सुरेश गुर्जर निवासी खेतडी एवं कुलदीप निवासी निजामपुर से बात करते है तो मालिक ग्रामीणों पर रौब झाडते है और कहते है कि आप हमारा कुछ नही कर सकते है। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देते है।

क्रेशर से उड़ने वाली धूल से पर्यावरण दूषित

 क्रेशर के चलने से आस पास के खेतो मे केशर की मिट्टी जाने से खेत भी खराब होते है। पशुओं का चारा भी खराब हो गया है। वर्तमान मे क्रेशर के चारों ओर कृषि भूमि में बाजरे की फसल काश्त की हुई है। क्रेशर की डस्ट उड़ने से फसल खराब हो रही है। तेज ध्वनि प्रदूषण हो रहा है।

 ग्रामीणों ने तहसीलदार से क्रेशर परिसर एवं आबादी भूमि का मौका मुआयना कर शीघ्र कार्यवाही करते हुए केशर को बन्द करवाने की मांग की। इस दौरान कजोडमल, बजरंग, सुरजा, मोहन लाल, छोटूराम लील, चरणसिंह, मूलचंद, महेश, अर्जुन राम, विजेन्द्र, सुनिल, महेन्द्र, दीपक, रामोतार सहित दर्जनों ग्रामीण उपस्थित रहे।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन के लिए संपर्क करें..…