मकान में पुट्टी कर रहे मजदूर की मौत का मामला: ढाई घंटे चला विरोध, एसडीएम की समझाइश पर हुआ मामला शांत, मांगों पर बनी सहमति

नीमकाथाना: इलाके के कोतवाली के बाहर मजदूर की मौत के मामले में करीब ढाई घंटे चले सात सूत्रीय मांगों को लेकर कुमावत समाज का प्रदर्शन उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता की समझाइश के बाद शांत हुआ। परिजनों का आरोप है कि मृतक सुरेंद्र पिछले कई दिनो से जाखड़ कॉलोनी स्थित नाहरी पंजाबी के मकान पर वॉल पुट्टी का कार्य कर रहा था। गुरुवार दोपहर को नाहरी पजाबी ने सुरेन्द्र के साथ वॉल पुट्टी खराब करने की बात को लेकर मारपीट की। जिससे सुरेन्द्र को गंभीर चोटें आने से बेहोश हो गया। 

जिसे गंभीर हालत में राजकीय कपिल जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रैफर कर दिया था। शुक्रवार को उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों ने मारपीट कर हत्या का आरोप लगाते हुए कोतवाली थाने में हत्या का मामला दर्ज करवाया। शव को कोतवाली थाने के बाहर रखकर आरोपी को गिरफ्तार करने सहित सात सूत्रीय मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। 

अधिकारियों ने की समझाइश
घटना की सूचना पर उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतन लाल भार्गव पुलिस उपाधीक्षक गिरधारी लाल शर्मा तहसीलदार सतवीर यादव मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहे लोगों से समझाइश की लेकिन प्रदर्शन कर रहे लोग अपनी मांगों पर अड़े रहे।
प्रतिनिधि मंडल व आला अधिकारियों के साथ वार्ता
बाद में ढाई घंटे चले प्रदर्शन के बाद एक प्रतिनिधिमंडल उच्च अधिकारियों से मिला। मांगों को लेकर सहमति बनी। इसके बाद मामला शांत हुआ। परिजन शव लेने के लिए राजी हुए। इस दौरान कुमावत समाज के सैकड़ों लोगों सहित मौके पर भारी पुलिस जाब्ता मौजूद रहा।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…