नरेगा श्रमिक की मौत, पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंपा

नीमकाथाना: निकटवर्ती ग्राम भूदोली में महात्मा गांधी नरेगा योजना कार्य में सोमवार को एक श्रमिक की मौत होने का मामला सामने आया है। सतरोड़ा जोहड़ा में खुदाई का कार्य चल रहा था। वहीं श्रमिक केशव मीणा भी कार्य कर रहा था। थोड़ी देर बाद केशव अचानक बेसुध होकर गिर गया। थोड़े देर बाद ही उसकी मौके पर मौत हो गई। 

ग्राम भूदोली के सरपंच दिनेश कुमार जांगिड़ ने बताया कि सुबह श्रमिक की तबियत खराब होने की सूचना मिली। थोड़े देर बाद ही श्रमिक की मौत हो गई। वही, ग्राम विकास अधिकारी राजू राम सैनी ने बताया कि श्रमिक की मृत्यु होने के बाद पोस्टमार्टम करवा दिया गया। पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवा दी गई है। अनुग्रह अनुदान राशि दिलवाई जाएगी। 

सदर थानाधिकारी कस्तूर वर्मा ने बताया कि मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल नीम का थाना लाया गया है। पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है।

जिम्मेदारों ने मनरेगा में व्यवस्थाओं के नाम सिर्फ सुर्खियां बंटोरी
जानकारी मुताबिक ग्राम पंचायत भूदोली मनरेगा के नाम पर सबसे ज्यादा बजट खर्च करने वाली पंचायत है। श्रमिकों में वेतन व सुविधाओं को लेकर भी कई बार विरोध हुआ है। जिला स्तरीय व राज्य स्तरीय दल द्वारा भी कई बार औचक निरीक्षण किया गया। रिपोर्ट उत्तम दर्शाई है। जबकि हकीकत में मनरेगा में काम करने वाले श्रमिकों को यहां छाया व दवाइयों जैसी सुविधा नहीं मिलने की बात ग्रामीणों ने कहीं।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…  
  विज्ञापन…  
  विज्ञापन…