शोभायात्रा निकालकर मनाई भगवान परशुराम जयंती, सैकड़ों की संख्या में हुए शामिल, जगह जगह हुआ स्वागत



नीमकाथाना। कस्बे के ब्राह्मण समाज के द्वारा मंगलवार को शुक्ल पक्ष की तृतीया को विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम जयंती समारोह धूमधाम से मनाया गया। शोभायात्रा को विधायक सुरेश मोदी ने रवाना किया। खेड़ापति बालाजी मंदिर से खेतड़ी मोड़, कपिल मंडी, सुभाष मंडी होते हुए श्याम मंदिर के पास स्थित वार्ड नं 7 स्थित भगवान परशुराम मंदिर पहुंची। शोभायात्रा में कस्बे के विप्र समाज के महिलाओं पुरुषों एवं युवाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। शहरवासियों सहित पूर्व विधायक रमेश खंडेलवाल व पूर्व राज्यमंत्री प्रेमसिंह बाजोर ने शोभा यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। शोभायात्रा में पुलिस प्रशासन कानून व्यवस्था को लेकर सजग नजर आया। शोभायात्रा में तहसीलदार सत्यवीर यादव, ईओ सूर्यकांत शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतन लाल भार्गव, पुलिस उपाधीक्षक गिरधारी लाल शर्मा एवं कोतवाली थानाधिकारी विरेंद्रपाल पुलिस जाब्ते के साथ रैली मे मौजूद रहे। मंदिर में महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया गया। इस दौरान प्रख्यात ज्योतिष पं. कौशल दत्त शर्मा, जेपी लोढा, सतीश शर्मा, अनिल शर्मा, राजू गोरधनपुरा, अशोक शर्मा, विमल भारद्वाज, नवीन शर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष शोभायात्रा में उपस्थित रहे। गौरतलब है कि वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया को परशुराम जयंती मनाई जाती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। परशुराम ने भगवान शिव को कठोर तपस्या करके प्रसन्न किया था वे भगवान शिव के परम भक्त है, प्रसन्न होकर भगवान शिव ने परशुराम को कई अस्त्र- शस्त्र भेंट किए थे। इनमें से एक परशु जिसे फरसा भी प्रदान किया था जो परशुराम को अधिक प्रिय था और इसे सदैव अपने पास रखते थे, इसी कारण वे परशुराम कहलाए।
Previous Post Next Post