मनरेगा संविदा कार्मिकों ने स्थायीकरण को लेकर मुख्यमंत्री के नाम विकास अधिकारी को सौंपा ज्ञापन



नीमकाथाना। मनरेगा संविदा कार्मिकों ने स्थाईकरण को लेकर मुख्यमंत्री के नाम विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि प्रदेश में महात्मा गांधी नरेगा योजना में पिछले 10-12 वर्षों से अल्प मानदेय पर संविदा कार्मिक सहायक कार्यक्रम अधिकारी, एमआईएस मैनेजर, आईईसी कोऑर्डिनेटर, कनिष्ठ तकनीकी सहायक, लेखा सहायक, डाटा एंट्री ऑपरेटर, कंप्यूटर ऑपरेटर विद मशीन, ग्राम रोजगार सहायक एवं सहायक इत्यादि कार्यरत हैं अपने मांग पत्र में नियमित पदों पर समायोजन करने एवं राज्य कर्मचारी के समान समस्त प्रकार के परिलाभ दिए जाने की मांग की गई है। मांगे नहीं माने जाने पर पूरे राजस्थान के नरेगा संविदा कार्मिकों द्वारा 5 मई से कार्य बहिष्कार करते हुए अनिश्चितकालीन अवकाश पर रहने की चेतावनी दी गई है। 5 मई से कार्मिकों द्वारा कलम बंद आंदोलन में सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। 6 मई से 11 मई तक राजकीय कार्यों का बहिष्कार एवं ब्लाक स्तर पर सामूहिक धरना आंदोलन किया जाएगा। 12 मई से 17 मई तक जिला स्तर पर धरना और 18 मई को जयपुर प्रदेश स्तर के कार्मिकों द्वारा मौन महारैली 19 मई से राजकीय कार्यों का बहिष्कार करते हुए प्रदेश स्तर पर अनिश्चितकालीन धरना एवं महापड़ाव दिया जाएगा। इस दौरान नरेश कुमार, जतिन सैनी, निर्मल सैनी, सुनीता सैनी, कनिष्ठ तकनीकी सहायक, संतोष कुमारी लेखा सहायक, श्रीराम वर्मा, डाटा एंट्री ऑपरेटर और प्रदीप कुमार शर्मा, ग्राम रोजगार सहायक उपस्थित रहे।
Previous Post Next Post