गुहाला पुलिस चौकी इंचार्ज सुण्डाराम के खिलाफ कार्यवाही को लेकर राज्यपाल को भेजा ज्ञापन



नीमकाथाना। पुलिस थाना सदर क्षेत्र में आने वाली पुलिस चौकी गुहाला के एचसी सुण्डाराम के खिलाफ कार्यवाही कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलवाने की मांग को लेकर गुरुवार को वाल्मीकी समाज के लोगों व पीड़ित परिवारजनों ने  उपखण्ड अधिकारी बृजेश गुप्ता को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। वाल्मीकि समाज के लोगों एवं पीड़ित परिवारजनों ने ज्ञापन में अवगत कराया कि अनुसूचित जाति के व्यक्ति को पुलिस चौकी गुहाला इन्चार्ज सुण्डाराम द्वारा एक्सीडेन्ट के मामले में अनुसंधान के बहाने सादा ड्रेस में अन्य दो व्यक्तियों के साथ वाल्मीकी समाज के घर पर जाकर कैलाश चन्द्र पुत्र कानाराम निवासी गोविन्दपुरा को जबरन गाड़ी में बिठाने की कोशिश पर घर की औरतो द्वारा पुछने पर उनके साथ अभद्र आचरण व अनैतिक व्यवहार करते हुए जाति सूचक गालिया दी एंव पुत्र द्वारा थाने में जाकर जानकारी चाही तो एचसी सुण्डाराम ने डराया धमकाया, जाति सूचक गालिया दी तथा एलानिया धमकी देते हुए कहाँ कि दो लाख रूपये की व्यवस्था कर लेना नहीं तो इसको 302, 307 में फसा दूंगा और कई अन्य मुकदमे इसके लगा दूगा। क्योंकि मुख्यमंत्री का ओसडी देवाराम सैनी मेरा रिश्तेदार है. एसपी मेरी जैब में रखता हूँ। मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। तथा कैलाश चन्द्र को 5 अप्रैल को उसके घर से सादा ड्रेस में दो अन्य व्यक्तियों के साथ उठाकर ले गया था तथा उसको तय समय सीमा में न्यायालय में पेश करने के बजाए 6 अप्रैल को गिरफ्तारी दिखाकर धारा 307 आईपीसी का झूठा मामला बनाकर अनुसूचित परिवार के गरीब व्यक्ति कैलाश को गलत दस्तावेजात तैयार कर न्यायालय में पेश कर झूठे मामले में रिमाण्ड पर लेकर जेल में डलवा दिया है। एचसी सुण्डाराम ने अनुसूचित परिवार का जीना दुभर कर रखा है। परिजनों के खिलफ अन्य झूठे मुकदमें दर्ज करवाने की धमकीया देकर डरा रहा है। परिजनों ने राज्यपाल से आमजन के खिलाफ अपने पद का गलत उपयोग करने वाले गुहाला चोकी एचसी सुण्डाराम के खिलाफ तुरन्त आवश्यक कानूनी कार्यवाही कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की।
Previous Post Next Post