शिक्षक पिता ने अपने शिक्षित मृत पुत्र का देह दान किया, निम्स मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने सम्मान कर याद में पेड़ लगाया




नीमकाथाना। उपखंड क्षेत्र की ग्राम पंचायत मावंडा खुर्द की ढाणी सागडू निवासी एक शिक्षक ने अपने बेटे की मौत पर उसकी देह निम्स मेडिकल कॉलेज को दान दे दी। जानकारी के मुताबिक ओमप्रकाश जाट के पुत्र हिमांशु (27) की गुरुवार सुबह अचानक तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। परिवार के लोग हिमांशु को राजकीय जिला कपिल अस्पताल लेकर आए। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सदर सीआई कस्तूर वर्मा ने बताया कि परिजनों ने मृतक का पोस्टमार्टम करने से इंकार कर दिया। वहीं मृतक के पिता ओमप्रकाश में अपने बेटे हिमांशु की देह को दान करने का निर्णय लिया। इसके बाद पीएम डॉ योगेश शर्मा व डॉ हरिसिंह गोठवाल ने मेडिकल कॉलेज सीकर से संपर्क कर देहदान की औपचारिकता पूरी करवाई।रिश्तेदार विजय जाखड़ ने बताया कि परिजन देह को सीकर लेकर पहुंचे लेकिन वहां के चिकित्सकों ने कहा की बॉडी को छः घंटे हो गए इन्फेक्शन हो गया और देह लेने से इंकार कर दिया। अस्तपाल प्रशासन को पूर्ण जानकारी नहीं होने से काफी परेशानियों का सामना कर पड़ा। उसके बाद अपने स्तर पर जयपुर निम्स यूनिवर्सिटी में संपर्क किया। जहां स्वीकृति मिलने के बाद देह को वहां लेकर गए। जहां मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों ने बॉडी का चेकअप किया। उसके बाद पूरे स्टाफ ने देह को सम्मान देकर परिजनों का भी सम्मान किया गया। अस्पताल में मृतक के नाम से पेड़ भी लगाया गया। हिमांशु एमएससी करने के बाद यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। अचानक तबीयत बिगड़ने से मृत्यु हो गई। पिता ओमप्रकाश ने अपने बेटे की देह को दान करने का निर्णय लिया और एक मिसाल पेश की जिससे क्षेत्र में इस कार्य को लेकर चर्चा बनी हुई हैं। सम्पूर्ण मामले में पत्रकार जुगल किशोर का पूर्ण सहयोग रहा। वही निम्स मेडिकल कॉलेज की प्रमुख सचिव डॉक्टर मीनाक्षी शर्मा ने मृतक के परिजनों को आभार व्यक्त करते हुए पत्र लिखा है तथा उसमें अवगत करवाया गया है कि आपके द्वारा उठाए गए सराहनीय कदम से मेडिकल के छात्रों को प्रैक्टिस करने का अवसर मिलेगा इस सहयोग का आभार व्यक्त करते हैं।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन के लिए संपर्क करें..…