शिव महापुराण कथा ज्ञान यज्ञ में आठवें दिन गणेश जन्म का प्रसंग सुनाया



नीमकाथाना। खेतड़ी मोड़ स्थित शक्ताली महादेव मंदिर में शिव मित्र मंडल द्वारा आयोजित शिव महापुराण कथा ज्ञान यज्ञ का आठवें दिन गणेश जन्म का प्रसंग सुनाया। कार्यक्रम में उद्योगपति दौलत राम गोयल कथा स्थल पहुंचे। जहां महाराज का आशीर्वाद लिया। कथा वाचक अनिरुद्ध महाराज ने प्रसंग बताते हुए कहा कि, दूसरी कथा शिवपुराण से है। इसके मुताबिक देवी पार्वती ने अपने उबटन से एक पुतला बनाया और उसमें प्राण डाल दिए। उन्होंने इस प्राणी को द्वारपाल बना कर बैठा दिया और किसी को भी अंदर न आने देने का आदेश देते हुए स्नान करने चली गईं। संयोग से इसी दौरान भगवान शिव वहां आए। उन्होंने अंदर जाना चाहा, लेकिन बालक गणेश ने रोक दिया। नाराज शिवजी ने बालक गणेश को समझाया, लेकिन उन्होंने एक न सुनी। क्रोधित शिवजी ने त्रिशूल से गणेश का सिर काट दिया। पार्वती को जब पता चला कि शिव ने गणेश का सिर काट दिया है, तो वे कुपित हुईं। पार्वती की नाराजगी दूर करने के लिए शिवजी ने गणेश के धड़ पर हाथी का मस्तक लगा कर जीवनदान दे दिया। तभी से शिवजी ने उन्हें तमाम सामर्थ्य और शक्तियां प्रदान करते हुए प्रथम पूज्य और गणों का देव बनाया। इस दौरान रणवीर सिंह, सतीश सिंह, संदीप, गजराज, सुरेश मीणा, रोशन अग्रवाल,  ऋषिराज आदि मौजूद रहे।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन के लिए संपर्क करें..…