संघर्षों से भरा जीवन, फिल्म इंडस्ट्री में बनाई जगह, बच्चन पांडे में निभाया गैंगस्टर का किरदार



नीमकाथाना(मनीष टांक) बचपन से ही कलाकार की भूमिका निभाई जिसकी शुरुआत रामलीला के मंच से हुई, जो बढ़ती बढ़ती मेलों व उत्सव तक पहुंच गई। उस समय दर्शकों के सामने कॉमेडी व कविता वाचन के साथ चुटकुलों के साथ दर्शकों को गुदगुदाते थे। इस कलाकार ने यहीं नहीं फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी, जी हां हम बात कर रहे हैं कस्बे के उमेश भारद्वाज की। जो 4 दिन पहले होली के मौके पर रिलीज हुई फिल्म बच्चन पांडे में दिखाई दिए।इन्होंने अक्षय कुमार, अरशद वारसी, कृति सेनन, पंकज त्रिपाठी जैसे कलाकारों के साथ काम किया है। फिल्म में उन्होंने गैंगस्टर का किरदार निभाया है। जिसके बाद शहर नहीं आसपास के क्षेत्रों में काफी चर्चा हो रही हैं। इससे पहले उमेश पंजाबी, हरियाणा, राजस्थानी गानों के एल्बम सहित शॉर्ट फिल्मों में काम कर चुके हैं।
यूं रहा संघर्षों से भरा जीवन
आर्थिक स्थिति खस्ताहाल होने के साथ इस मुकाम पर पहुंचने में काफी संघर्ष करना पड़ा। कभी खाने के तो कभी किराए के पैसे भी नहीं रहते थे। उमेश के पिता कस्बे में ही चाय की थड़ी लगाते हैं। आमदनी केवल इतनी ही की रोटी रोजी लिए भी संघर्ष करना पड़े। 
वेब सीरीज के लिए चुना, एफटीआईआई के लिए कर रहे तैयारी
उमेश की बेहतरीन अभिनय कला को देखते हुए वेब सीरीज के लिए इन्हें चुना गया है। शेखावाटी का यह युवा देशभर की जनता को अपनी कला से आकर्षित करेगा। उमेश पुणे में स्थित फिल्म टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में दाखिला लेने के लिए तैयारी कर रहे हैं जहां केवल 10 सीटों के लिए आवेदन प्रक्रिया होती है। 

संदेश: जीवन में चुनौतियों का सामना मुस्कुरा करें
उमेश भारद्वाज ने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि युवाओं को अपने सपने साकार करने के लिए कठिन मेहनत करनी चाहिए। कोई भी परिस्थिति आपके सपनों के सामने बाधा नहीं बन सकती। जीवन में चुनौतियों का सामना मुस्कुरा कर करना चाहिए।
Previous Post Next Post