अभिनेत्री सनी लियोन के नये एल्बम मधुबन में राधिका नाचे पर रोक लगाने को लेकर विधिक नोटिस भेजा

मंदिर प्रशासन सहित नीमकाथाना एनजीओ द्वारा सात लोगों को अधिवक्ता फतेहपुरिया ने भेजा नोटिस

जयपुर: बांके बिहारी मन्दिर वृन्दावन के प्रतिनिधियों एवं आस्था जन कल्याण सेवा समिति नीमकाथाना एनजीओ के आग्रह पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं श्रमिक कल्याण ट्रस्ट के प्रदेश महामंत्री राहुल फतेहपुरिया ने सनी लियोन एवं अन्य को सात दिवस में एल्बम के प्रकाशन पर रोक लगाने एवं सभी जगह से विडियो हटाने की हिदायत दी। 
बता दें कि निदेशक गणेश आचार्य ने दिनांक 22 दिसंबर को सारेगामा म्युजिक कम्पनी के साथ मिलकर मधुबन नाम से एक एल्बम यु टयुब पर प्रकाशित किया, जो की उक्त एल्बम कोहिनुर पिच्चर के गाने मधुबन में राधिका नाचे का रिमिक्स वर्जन है। 

बांके बिहारी मन्दिर वृन्दावन के प्रतिनिधियों व नीमकाथाना एनजीओ आस्था जन कल्याण सेवा समिति, एवं अन्य कई हिन्दु स्वयं सेवा संघो के आग्रह पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं श्रमिक कल्याण ट्रस्ट के प्रदेश महामंत्री एवं राजस्थान उच्च न्यायालय के अधिवक्ता राहुल फतेहपुरिया ने उक्त एल्बम में राधिका-सांवरे के नृत्य को हिन्दु देवी-देवताओं के नाम पर आपत्तिजनक एवं अनैतिक मानते हुए अभिनेत्री सनी लियोन, गणेश आचार्य, जिम्मीडिजाईनर, कनिका कपुर, सरगम म्युजिक कम्पनी, शारिब-तोशी, एवं मनोज यादव को विधिक नोटिस जारी कर सात दिवस में उक्त एल्बम का प्रकाशन पुरी तरह रोकने एवं विडियो को सभी जगह से हटाने की वैधानिक हिदायत दी है।

 नोटिसीगणों द्वारा ऐसा नहीं करने पर उक्त सभी स्वयं सेवी संगठनों एवं प्रशासनों के साथ मिलकर, राजस्थान उच्च न्यायालय की छुट्टियां खत्म होते ही नव वर्ष के सत्र में माननीय न्यायालय में विपक्षीगणों के विरुद लिखित हल्फनामा पेश करने का नोटिस विपक्षीगणों को जारी किया है।
Previous Post Next Post