आरटीआई कार्यकर्ता के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन



बाड़मेर के आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम के साथ मारपीट का है मामला

 नीमकाथाना। आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम जाट  जिला बाड़मेर थाना क्षेत्र गिडा में आरटीआई कार्यकर्ता के साथ मारपीट करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही कर दोषीयो को सख्त सजा दिलवाने  व राजस्थान में सरकार द्वारा सामाजिक व आरटीआई कार्यकर्ताओ की सुरक्षा सुनिश्चित करवाने को लेकर शुक्रवार को कस्बे के सामाजिक एवं आरटीआई कार्यकर्ताओं ने उपखंड अधिकारी बृजेश कुमार गुप्ता के जरिए मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार को ज्ञापन भेजा।
ज्ञापन में अवगत कराया कि बाड़मेर के थाना क्षेत्र गिडा में आरटीआई कार्यकर्ता जाट के साथ जो अमानवीय घटना हुई है वह निदंनीय है। बाड़मेर में आरटीआई कार्यक्रर्ता के साथ जिन दबगं किश्म के लोगो द्वारा मारपीट कर अमानवीय तरीके से बर्बरता पूर्वक अपराधिक कर्त्य किया गया है उन  लोगोे के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाये। तथा सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलन्द कर भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाले सामाजिक कार्यक्रताओ, आरटीआई कार्यकर्ताओ को सुरक्षा दिलवाने के लिए राज्य सरकार द्वारा सख्त कानून बनाकर आरटीआई कार्यकर्ताओ की सुरक्षा सुनश्चित की जाये। संसद में 2015 में व्हिसल ब्लोअर प्रोटेक्शन संशोधित एक्ट पारित कर चुकी है। इसमें सुरक्षा का प्रावधान है सरकार द्वारा रूल्स बनाए जाये। इस अवसर पर आरटीआई कार्यकर्ता श्रवण सिंह, पूरणमल यादव, एडवोकेट फतेह सिंह सैनी, नत्थू सिंह तंवर, ओम प्रकाश महला, रविंद्र सिंह जाखड़, धर्मपाल सैनी, मालीराम स्वामी सहित अनेकसामाजिक एंव आरटीआई कार्यक्रता उपस्थित रहे ।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…  
  विज्ञापन…