नीमकाथाना ब्रेकिंग: रॉयल्टी कर्मचारियों से अवैध वसूली के आरोप में दो हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार..

नीमकाथाना। पाटन पुलिस ने रॉयल्टी कर्मचारियों से अवैध वसूली के मामले में दो हिस्ट्रीशीटरो को गिरफ्तार किया। 
पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप द्वारा प्रकरण दर्ज होने के बाद प्रकरण में शामिल बदमाशो को शीघ्र गिरफ्तार कर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश प्राप्त हुये थे। प्राप्त आदेशों की पालना में एएसपी रतनलाल भार्गव व डीवाईएसपी गिरधारीलाल शर्मा के निकटतम सुपरवीजन में थानाधिकारी बृजेशसिंह तंवर के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। जिसमें एचसी जगदीश प्रसाद, शिशराम, सुरेन्द्र, महिपाल, अंकुश, साइबर सेल राकेश को शामिल किया गया।

 थानाधिकारी तंवर ने बताया कि पांच दिन पूर्व इन्चार्ज गैलेक्सी माईनिंग एवं रोयल्टी कम्पनी नीमकाथाना जोन ने रिपोर्ट दर्ज कराई। कम्पनी ने हसामपुर से आगे बरडा बोपिया मे रॉयल्टी नाका लगा रखा है। राकेश गुर्जर पुत्र हंसराज गुर्जर, प्रदीप गुर्जर पुत्र हंसराज गुर्जर महेन्द्र गुर्जर पुत्र शिवराम उर्फ श्योराम गुर्जर निवासीगण बोपिया आये दिन हमारे नाके पर आकर अवैध वसूली की मांग करते हैं। इनके पास अवैध हथियार देशी कट्टे हैं जिनका भय दिखाकर ये लोग कई बार अवैध वसूली कर चुके हैं। कई बार हमारी गाड़ियों को ले जाते हैं एवं कहते हैं कि आपका रायल्टी नाका हमारे घर के सामने ही है अगर रायल्टी चलानी है तो हमारे को मासिक रुपये देने पड़ेंगे राकेश एवं महेन्द्र अपने आपको पाटन थाने के हिस्ट्रीशीटर बदमाश बताते हैं और 15-15 मुकदमे हैं एक और लग जायेगा कोई बात नही। ये लोग आये दिन हमारे कांटे पर आकर मोबाईल से फोन कर अवैध वसूली की मांग करते हैं। नहीं देने पर हमारे कांटे को बन्द कर काम रुकवा देते हैं। 

महेन्द्र गुर्जर, राकेश गुर्जर हमारे कांटे पर आकर कांटा बन्द करवाकर काम रुकवा दिया। ये लोग हमारे को परेशान कर कार्य नहीं करने दे रहे हैं व लगातार अवैध वसूली की मांग करते है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। 

आरोपी महेन्द्र एवं राकेश को पुलिस टीमों द्वारा लगातार दबिश देकर पीछा कर आरोपी महेन्द्र को नीमकाथाना इलाके से एवं आरोपी राकेश को हसामपुर की पहाड़ियों से मुखवीर की सूचना पर हिरासत में लेकर पूछताछ की गई उसके बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया है।

 आरोपी महेन्द्र व राकेश के खिलाफ पूर्व में हत्या, अवैध हथियार रखने, लूट, डकैती के प्रकरण विचाराधीन हैं। आरोपीगण अपने हिस्ट्रीशीटर बदमाश होने के कारण अवैध वसूली की मांग कर रहे थे प्रकरण में गिरफ्तारशुदा आरोपियों से गहनता से अनुसंधान जारी है।
Previous Post Next Post