बालेश्वर धाम में मिले घायल पैंथर ने बीच रास्ते में तोड़ा दम, प्रशासन की मौजूदगी में किया पोस्टमार्टम



दो पैंथरों में संघर्ष होने के बाद हुआ था घायल,

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद होगा मौत का खुलासा

नीमकाथाना। इलाके के बालेश्वर गांव के खेत में मंगलवार को एक घायल पैंथर मिलने से हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने पैंथर की सूचना वन विभाग को दी। मौके पर वन अधिकारी व पाटन पुलिस पहुंची। विभाग ने जयपुर के चिडिय़ाघर से रेस्क्यू टीम को बुलाया। जहां टीम ने उसे ट्रेंकुलाइज किया। जिसे नीमकाथाना रेंज में लाया गया।लेकिन बीच रास्ते में पैंथर ने दम तोड़ दिया। जिसके बाद पोस्टमार्टम करवाकर वन विभाग की टीम ने उसके शव की दाह क्रिया की। जानकारी के अनुसार बालेश्वर गांव में सुबह एक खेत में पैंथर देखा गया। जो बीमार हालत में चलता-गिरता दिख रहा था। सूचना पर क्षेत्रीय वन अधिकारी श्रवण बाजिया, फोरेस्टर रविसिंह भाटी व हरलाल सिंह सहित वन विभाग व पाटन पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। जिन्होंने मौका मुआयना कर पैंथर की सूचना जयपुर रेस्क्यू टीम तक पहुंचाई। जिसके करीब चार घंटे बाद पहुंची जयपुर चिडिय़ाघर की टीम ने उसे ट्रेंकुलाइज किया। लेकिन, नीमकाथाना रैंज में ले जाने से पहले ही उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। इस दौरान एएफसी वीरेंद्र कृष्णिया, डॉ अशोक कुमार तंवर ऑफिसर चिड़ियाघर जयपुर, असिस्टेंट फॉरेस्टर सुरेश चौधरी, डॉ राजेन्द्र सिंह राठौड़, डॉ कुलदीप निठारवाल भूदोली, डॉ गोपीराम कुमावत गांवड़ी, डॉ घासीराम चला, नायब तहसीलदार डॉ बसंत परसोया सहित कोतवाली पुलिस मौजूद रही।


पैंथर के पीछे के हिस्से में घाव, दांत भी टूटा

रेस्क्यू टीम के अनुसार पैंथर की उम्र करीब 15 साल थी। पैंथर के पीछे के हिस्से में घाव मिला है। जिसमें कीड़े लगे हुए थे। उसका एक दांत भी टूट गया था। पैंथर रात को दूसरे पैंथर से लड़ाई में घायल होना बताया जा रहा है। 

दो पैंथरों में संघर्ष होने की संभावना
ग्रामीणों के अनुसार बीती देर रात को गांव में दो पैंथर लड़ रहे थे। जिसमें घायल होने पर वह पैंथर वापस वन क्षेत्र में नहीं लौट सकने की संभावना जताई जा रही है। ग्रामीणों के अनुसार वह चलते हुए बार बार गिर रहा था। 

टोडा सड़क मार्ग पर बैठा था पैंथर

ग्रामीणों ने बताया कि पैंथर बालेश्वर-टोडा सड़क मार्ग पर भी काफी देर तक बैठा रहा था। लेकिन, बाद में धीरे- धीरे चलते हुए खेत में पहुंच गया। जिसके बाद मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद होगी पुष्टि

 वन विभाग की ओर से प्रशासन की मौजूदगी में पैंथर का पोस्टमार्टम करवाकर अंतिम संस्कार कराया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद रिपोर्ट क्लियर हो पाएगी कि पैंथर की मौत किस कारण से हुई।
Previous Post Next Post