पत्रकार संगठनों ने पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने व राजस्थान में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन।


पाटन पुलिस द्वारा पत्रकार के साथ मारपीट का है मामला।

नीमकाथाना। उपखंड क्षेत्र के पाटन पुलिस थाने   
में विगत 5 सितंबर को पत्रकार के साथ की गई  मारपीट व धार्मिक भावनाए आहत करने के दोषियों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर सोमवार को विभिन्न पत्रकार संगठनों ने उपखंड अधिकारी के जरिए राजस्थान के  मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। पत्रकार संगठनों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन के जरिए अवगत कराया कि स्थानीय पत्रकार दीपक शर्मा अपने रिश्तेदारो  के साथ पुलिस थाना पाटन गए थे । न्याय की मांग करने पर वहां पर मौजूद पुलिसकर्मी जगरूप सिंह, थानाधिकारी बृजेश तंवर सहित अन्य ने उनके साथ गाली गलौज करते हुए  मारपीट की, ओर चोटी उखाड़ने की कोशिश करके धार्मिक भावनाओ को आहत किया जिससे पत्रकार शर्मा को गंभीर चोटे आई व थाने में मौजूद सामाजिक लोगों व रिस्तेदारो के सामने उनका अपमान किया गया। पत्रकार संगठनों ने मुख्यमंत्री से  इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग करते हैं। वर्किंग मीडिया जर्नलिष्ट यूनियन प्रदेश महासचिव हरी किशन राव, यूनाइटेड इंडियन जर्नलिष्ट एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव नरेंद्र सिंह शेखावत, जर्नलिष्ट वैलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद चोहरिया ने कहां की पाटन पुलिस थाने के दोषी कर्मियों के खिलाफ सख्त  कार्यवाही की जाए, ऐसे पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की कार्यशैली से पुलिस प्रशासन और सरकार की छवि धूमिल हो रही है। समय रहते दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ पर कार्रवाई नहीं होती तो पूरे राजस्थान में पत्रकार संगठनों द्वारा आंदोलन किया जाएगा । पत्रकारों ने पत्रकार के रिश्तेदार और परिवार की सुरक्षा की मांग की। इस दौरान नीमकाथाना पत्रकार परिषद अध्यक्ष हरीश देवन्दा,  शंकर सिंह शेखावत, जुगल किशोर, उमेश शर्मा, सदाम हुसैन, मनीष टांक, प्रवीण योगी, अश्वनी भारद्वाज 
सहित अनेक पत्रकार उपस्थित रहे।
Previous Post Next Post