वन क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन को लेकर जिला वन संरक्षक को पंचायत समिति प्रधान ने भेजा ज्ञापन

पाटन कस्बे की निकटतम सीमा हरियाणा के पास लगने वाली ग्राम पंचायत में कई लीजें स्वीकृत हैं जिनपर खान मालिकों द्वारा राजस्थान की सीमा के अन्दर घुस कर वन विभाग की भूमि में अवैध खनन करने में लगे हुए है। जिससे राजस्व को लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है। 

 पाटनक्षेत्र के वन विभाग क्षेत्र मे पिछले कई दिनो से अवैध खनन जोरों पर चल रहा है। जिसको लेकर पाटन पंचायत समिति प्रधान सुवालाल सैनी ने जिला वन संरक्षक को ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में लिखा है कि कस्बे की निकटवर्ती ग्राम पंचायत स्यालोदडा के पास हरियाणा राज्य का जिला महेन्द्रगढ लगता है जंहा राजस्थान व हरियाणा बॉर्डर पर क्वारट जाइड की लीज स्वीकृत है। 

इन स्वीकृत लीज मालिकों द्वारा हरियाणा के स्वीकृत ऐरिया से आगे बढ राजस्थान की सीमा में खनन कर वन विभाग क्षेत्र से बेस किमती मिनरल्स निकालने में लगे है। यही हाल ग्राम पंचायत लादी का बास के वन क्षेत्र का है जहां खनन माफियाओं द्वारा आयरन का अवैध खनन कर सरकार व वन विभाग को चूना लगा रहे है। 

प्रधान सैनी ने बताया कि यदि इसकी नपती करवाई जाए तो राज्य सरकार लाखों रूपये का राजस्व प्राप्त हो सकता है। गौरतलब है कि इस बारे में पूर्व में कई बार ग्रामीणों द्वारा पाटन वन अधिकारी को अवगत करवाया था परन्तु अभी अवैध खनन जारी है।

Previous Post Next Post
  विज्ञापन…