क्षमता अभिवर्धन कार्यशाला का हुआ आयोजन, आंखों की समस्याओं को लेकर जानकारी दी



नीमकाथाना। बाल विकास परियोजना के तत्वावधान में ब्लाॅक की सभी ग्राम साथिनों की क्षमता अभिवर्धन कार्यशाला का आयोजन सीताराम मोदी राजकीय संस्कृत महाविद्यालय में किया गया। इस कार्यशाला के प्रथम सत्र में उपस्थित संभागियों को कोविड-19 के दौर में आँखों की देखभाल व नेत्र रोगों से बचाव विषय पर शिव शक्ति आई हॉस्पिटल की बाल नेत्र रोग विशेषज्ञ डाॅ. खुशबू व डाॅ. अभिषेक ने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान वैश्विक महामारी कोरोना के कारण ऑनलाइन पढ़ाई का तेजी से प्रसार हुआ है। जिससे कम्प्यूटर विजन सिंड्रोम नामक आँखों की बीमारी के शिकार हो रहे हैं। यदि समय पर इलाज नहीं हो तो इससे आँखों की रोशनी पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है। कार्यशाला के द्वितीय सत्र में बैंक ऑफ बड़ौदा के सह-प्रबन्धक संजय कुमार ने कार्यशाला में उपस्थित संभागियों को इन्दिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार ने महिलाओं व स्वयं सहायता समूहों को आर्थिक रूप से संबल प्रदान करने के लिए यह योजना शुरू की है, इस योजना में व्यक्तिगत महिला उद्यमी अथवा स्वयं सहायता समूहों को 50 लाख रूपये तक और समूहों के समूह के रूप में विद्यमान क्लस्टर या फेडरेशन को एक करोड़ तक की ऋण सुविधा मिल सकेगी। ऋण अनुदान की अधिकतक सीमा 15 लाख होगी। महिला आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए। कार्यशाला का अंतिम सत्र प्रश्नोत्तर का रहा जिसमें उपस्थित विशेषज्ञों ने संभागियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया। इस अवसर पर सीडीपीओ संजय चेतानी, पर्यवेक्षक ताराचन्द जान्दु, सुनिता चौधरी, निधि पुरोहित, नीलम बंगाली, चिमल लाल, ब्लाॅक काॅर्डिनेटर अंशुल श्रीवास्तव सहित कई लोग मौजूद रहे।
Previous Post Next Post