नीमकाथाना। राज्य सरकार द्वारा कोविड 19 के दौरान चल रहे अनुशासन पखवाड़ा के तहत आमजन की सहयोग के लिए सरकार ने जहां खाद्य सामग्रियों को लेकर कालाबाजारी नहीं करने के दिशा निर्देश हैं। वहीं कस्बे में कोविड-19 की आड़ में खाद्य सामग्री बेचने वाले व्यापारी मनमर्जी से महंगी किमत में खाद्य सामग्री का बेचान कर रहे हैं। स्थानीय व्यापारी पशु खाद्य सामग्री में भी कालाबाजारी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। कस्बे में खाद्य सामग्रियों की कालाबाजारी करने को लेकर गुरुवार को स्थानीय लोगों ने तहसीलदार सत्यवीर यादव को पशुओं की चारा सामग्री की कालाबाजारी करने एवं अधिक मूल्य में बेचने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में अवगत कराया कि कपिल मण्डी में पशुओं के लिए अग्रवाल ट्रैडिंग से काकड़ा लेकर गया था। जिसपर व्यापारी ने अपनी मनमर्जी करते हुए बाजार भाव से अत्यधिक रूपये लेकर लेकर पशु चारा सामग्री दे रहा है। उपभोक्ता ने व्यापारी से अधिक रेट पर माल देने के लिए विरोध किया तो व्यापारी ने कहॉ इसी रेट में मिलेगा लेना है तो लो यही रेट कर रखी है। व्यापारी ने अधिक रेट में काकड़े की बोरी दी और बिल मांगने पर पक्का बिल भी नही दिया। ज्ञापन में कोविड 19 के दौरान खाद्य सामग्रियों की कालाबाजारी करने वाले व्यापारी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। तहसीलदार सत्यवीर यादव ने कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर कहा कि अगर बाजार में किसी व्यापारी द्वारा खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी कर अधिक मूल्य पर बेचा जा रहा है तो नियम अनुसार व्यापारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता पुरणमल यादव, जुगल किशोर, श्रवण सिंह, धर्मपाल सैनी, शाहरुख खान मौजूद रहे।


नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।