नीमकाथाना। कोतवाली थाने में विगत छः माह पहले पीड़ित के साथ मारपीट व धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज हुआ था। जिसमें परिवादी को न्यान्य नहीं मिलने पर उच्च अधिकारियों को लिखित अवगत करवाया। उसके बाद भी न्यान्य की गुहार लगाने पर मजबूर होना पड़ रहा है। जानकारी के मुताबिक परिवादी अशोक कुमार शर्मा ने विगत 15 अक्टूबर को इस्तगासे के जरिए एफ आई आर 360/20 में नामजद मामला दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि विकास कुल्हरी व राजेश कुमार द्वारा मेरे भाई बलराम शर्मा को गाड़ी का इंश्योरेंस करवाने के लिए शाहपुरा रोड स्थित सुजुकी शोरूम पर बुलाया। जहां गाड़ी को शोरूम के अंदर खड़ी कर ली। विरोध करने पर मारपीट पर उतारू हो गए। गाड़ी व गाड़ी में रखी चैक बुक एवं करीब दो लाख रुपए छीन लिये। जिसपर कोतवाली थाने में इस्तगासे के जरिए धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने जांच पड़ताल कर मामले में एफआर लगा दी। घटना के एक माह बाद परिवादी ने पुलिस अधीक्षक, जिला कलेक्टर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को अवगत करवाया था। परवादी को न्यान्य नहीं मिलने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय में शिकायत दर्ज करवाई। जहां से कोतवाली थाने में पुनः जांच करने के आदेश दिए गए। पुलिस ने जांच शुरू कर दी। लेकिन परिवादी ने तीन माह बीत जाने के बाद भी पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं करने की बात कही।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।