नीमकाथाना न्यूज़- भारी विस्फोटक सामग्री से भरी गाड़ियां आबादी क्षेत्र में से होकर रेला माइनिंग जोन में जा रही है जिसके चलते लोगों में भय का माहौल बना हुआ है।

रेला निवासी पूर्व वार्ड पंच इंद्राज सिंह गुर्जर ने संवाददाता को बताया कि रेला में जो विस्फोटक सामग्री के वाहन विस्फोटक सामग्री लेकर आ रहे हैं वे गाड़ियां अवैध रूप से ब्लास्टिंग लारही है क्योंकि ना तो इन गाड़ियों में माल का बिल होता है तथा माल किसी और लीज का होता है तथा पहुंचाया किसी और लीज पर जाता है। विस्फोटक सामग्री लाने वाले वाहनों को संपूर्ण जानकारी भी संबंधित थानो को देनी होती है परंतु ये लोग बिना जानकारी के ही विस्फोटक सामग्री से भरे हुए वाहन आबादी क्षेत्र हसामपुर से निकाल कर रेला पहुंच रहे है। 

 जिसके चलते हसामपुर के  लोगों में दहशत का माहौल है।इंद्राज सिंह ने यह भी बताया कि खदान मालिकों द्वारा खदान से निकलने वाली डस्ट को भी रेला बांध एवं वन क्षेत्र में डालकर वन क्षेत्र एवं बांध का बहाव क्षेत्र को नष्ट करने में लगे हुए हैं। जिसकी जानकारी हमने सिंचाई विभाग एवं वन विभाग के अधिकारियों को भी दी है परंतु दोनों विभागों द्वारा कोई कार्यवाही नहीं होने से इन लोगों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। रेला में स्थित दो दर्जन खदानों की 2016 में पर्यावरण स्वीकृति जारी हुई थी

जिसमें खदान मालिकों द्वारा हरे वृक्ष लगाने का शपथ पत्र दिया था परंतु रेला में एक भी वृक्ष नहीं लगाया गया जो नियम विरुद्ध है। वंहीं रेला में भारी ब्लास्टिंग, ओवरलोड, अवैध डीजल के बारे में आए दिन समाचार प्रकाशित हो रहे हैं उसके बावजूद भी जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

उपखंड अधिकारी बृजेश कुमार गुप्ता से जब इस बारे में जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया कि इस बारे में शीघ्र ही जिम्मेदार अधिकारियों को नोटिस दिया जाएगा तथा नियम विरुद्ध कार्य करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।



- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।