अस्पताल में विभिन्न मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया 
पुलिस ने कार्यवाही करने का आश्वासन देकर करवाया मामला शांत
अस्पताल में कोरोना गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां, सोशल डिस्टेंस की नहीं हुई पालना
नीमकाथाना। कोतवाली थाना अंतर्गत भूदोली बाईपास पर डंफर ने इलेक्ट्रिक ऑटो को टक्कर मारने का मामला सामने आया है। ऑटो में सवार पांच लोग गंभीर घायल हो गए वहीं एक युवक का मौके पर दम निकल गया। सभी को राजकीय कपिल अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी का प्राथमिक उपचार कर दो लोगों को गंभीर हालत में जयपुर रेफर कर दिया। वहीं शव को मोर्चरी में रखवाया। सूचना पर परिजनों एवं ग्रामीणों द्वारा कपिल अस्पताल में कार्यवाही को लेकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस प्रशासन की समझाइश के बाद धरने को समाप्त करवाया गया। जानकारी के अनुसार भूदोली बाईपास पर अल सुबह एक डंफर ने सड़क पर खड़े इलेक्ट्रिक ऑटो को टक्कर मार दी। हादसे में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई एवं पांच गम्भीर घायल हो गए। घायलों को नीमकाथाना कपिल अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां से प्राथमिक उपचार के बाद रवि एवं सचिन को जयपुर रेफर कर दिया गया वही तीन लोगों का कपिल अस्पताल में इलाज जारी है। दूसरी ओर डेहरा बरसिंहकाबास निवासी मनीष के शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। सभी लोग डेहरा बरसिंहकाबास निवासी ऑटो में सवार होकर पाटन की तरफ कैटरिंग का काम कर अपने घर लौट रहे थे। घटना को लेकर मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। सेकड़ो लोगों ने अस्पताल के बाहर मांगो को लेकर धरना शुरू कर दिया। 
मामले को लेकर परिजनों एवं ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
लोगो की मांग थी कि मृतक परिवार को सरकारी नौकरी व आर्थिक सहायता, हादसे से घायल को मुआवजा, ओवरलोड वाहन आने जाने पर रोक, खोरा में दो अवेध लीज खनन बंद करने सहित विभिन्न मांगों को सेकड़ो लोग धरने पर बैठ गए। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि जब तक हमारी मांगे नही मानी जाती तब तक धरना जारी रहेगा। 
पुलिस प्रशासन ने समझाइश कर मामला शांत करवाया
सूचना पर पुलिस उपाधीक्षक सांवरमल नागोरा एवं कोतवाली थानाधिकारी राजेश डूडी जाब्ते सहित मौके पर पहुंचकर धरना दे रहे लोगो से समझाइश कि और कार्रवाई का आश्वासन दिया। आश्वासन के बाद परिजन शव लेने के लिए राजी हुए। कोतवाली पुलिस ने शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौपा। वही कोतवाली पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
अस्पताल में प्रदर्शन के दौरान कोरोना गाइडलाइन की उड़ती रही धज्जियां
घटना की सूचना पर अस्पताल ने परिजनों सहित लोगों की भारी मात्रा में भीड़ जमा हो गई। वहीं लोगों ने विभिन्न मांगों को लेकर अस्पताल में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। लेकिन प्रदर्शनकारियों ने सरकार की जारी कोरोना गाइडलाइन की पालना नहीं की। जिससे सोशल डिस्टेंस टूटता हुआ नजर आया। प्रशासन भी आक्रोशित लोगों को समझाइश करने में लगे रहे। 

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।