जमीनी विवाद को लेकर मारपीट कर गर्भ में पल रहे बच्चे को गिराने का है मामला
टोडा के लुहारवास गांव का है मामला
नीमकाथाना। जमीनी विवाद को लेकर मारपीट के मामले में महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे गिरने के मामले ने तूल पकड़ा लिया। पीड़िता ने कोर्ट इस्तगासे के जरिए सदर पुलिस ने मामला दर्ज करवाया। तीन दिन बाद पुलिस ने  दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। वहीं पीड़ित महिला को इलाज के लिए राजकीय कपिल अस्पताल में भर्ती करवाया। दूसरी तरफ नवजात शिशु का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी।

जमीनी विवाद को लेकर हुई मारपीट
पीड़िता की नानी बिमला देवी ने जानकारी देते हुए बताया कि गांव के सरदारा राम व हरी मीणा विगत वर्ष से मारपीट करते रहते थे। विगत 18 अक्टूबर 2020 को हमारे बच्चे अंजलि व राकेश व लाली के साथ मारपीट की। शाम 6 बजे श्रीमाधोपुर से मेरी दोहिती रेखा घर आ रही थी। उसी समय दोनों लोगों ने उसके साथ भी मारपीट की ओर उसके पेट पर लात मारी जिससे पेट पल रहा 6 माह का  भ्रूण गिर गया।

तीन दिन तक न्याय के लिए भटकता रहा परिवार
बिमला देवी ने जानकारी देते हुए बताया कि मारपीट होने के बाद हमने टोडा पुलिस चौकी को अवगत करवाया लेकिन वहां हमारी कोई सुनवाई नहीं की गई। उसके बाद शिकायत के माध्यम से पुलिस अधीक्षक व सदर पुलिस को मामले में कार्यवाही करने को लेकर शिकायत भेेजी वहां भी कोई सुनवाई नहीं हुई।

कोर्ट इस्तगासे के बाद हुआ मामला दर्ज
दिन चक्कर काटने के बाद बिमला देवी का सदर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। मामले में दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई।

तीन दिन बाद पीड़िता को मिला इलाज, नवजात का हुआ पोस्टमार्टम
पीड़िता आखिरकार तीन दिन चक्कर काटने के बाद शव लेकर न्याय के लिए कोर्ट पहुंचा। मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने बुधवार रात पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करवाया। शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया जहां शव का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। 

पीड़ित परिवार को न्याय की उम्मीद
परिवादी बिमला देवी ने तीन दिन बाद कोर्ट के जरिए मामला दर्ज करवाया एवं उसको पुलिस की जांच के बाद न्याय की उम्मीद है। कहा कि पुलिस जांच के बाद ही मुझे न्याय मिल पाएगा।

इनका कहना है
कोर्ट इस्तगासे के जरिए दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। शव का पोस्टमार्टम करवाया गया है पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। दोषियों पर जल्द कार्यवाही की जाएगी
लालसिंह यादव
थानाधिकारी सदर पुलिस थाना।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।