एनजीओ अध्यक्ष ने पटाखों के गोदाम, दुकान, स्टॉक को सीज करने की मांग रखी
नीमकाथाना। आस्था जन कल्याण सेवा समिति ने शहर में दीपावली पर्व पर क्षेत्र में पटाखों से होने वाले प्रदूषण से श्वास रोगियों को सांस लेने में होने वाली परेशानियों को लेकर पटाखों पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने को लेकर राज्य मानवाधिकार आयोग जयपुर के अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, जिला कलेक्टर व उपखंड अधिकारी को शिकायत भेजी। शिकायत में एनजीओ अध्यक्ष जुगल किशोर ने जानकारी देते हुए बताया कि क्षेत्र में पटाखों का भारी मात्रा में स्टाक कर दीपावली पर्व पर पटाखों का बेचान किया जाएगा। पटाखों से होने वाले प्रदूषण से कोरोना रोगियों के समक्ष श्वास लेने में भारी परेशानी होगी एवं कोरोना और अधिक फैलने की आशंका होगी।
फ़ाइल फोटो
विगत दिनों सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के मेडिसन रोग विभाध्यक्ष सहित अन्य वरिष्ठ चिकित्सकों ने प्राचार्य को पत्र लिखकर अवगत कराया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक दीपावली पर पटाखे जलाए गए तो कोरोना रोगियों की संख्या और बढ़ सकती है। कोरोना रोग का प्रभाव श्वास पर होता है। प्रदूषण करने से कोरोना रोगियों को परेशानी होगी। ऐसे में इलाज से बेहतर सावधानी व प्रदूषण रोकने के लिए तत्काल क्षेत्र में पटाखा व्यापारियों के गोदाम एवं दुकानों पर छापे मार कार्यवाही के लिए टीम गठित कर तत्काल पटाखों के स्टाक को सीज करवाया जावे। नीमकाथाना में पटाखों के बड़े व्यापारियों में से विक्की अग्रवाल व पप्पू अग्रवाल निवासी वार्ड नंबर 1 कपिल मंडी नीमकाथाना सहित दर्जन भर व्यापारी अपने आवासीय भूखंडों सहित गोदामों में भारी मात्रा में स्टॉक कर रखा है। उनकी कार्रवाई करते गोदामों को सीज करवाए जावें। शिकायत में मांग की है कि तत्काल आवश्यक कार्रवाई करते हुए जिले से अन्य पुलिस की टीम गठित कर स्टाक, गोदाम, दुकानों पर चिन्हित जगह पर छापे मार कार्यवाही की जावे।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।