नीमकाथाना@महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रदेश भर में बच्चों, गर्भवती, धात्री महिलाओं में व्याप्त कुपोषण को दूर करने के लिए राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत एक नवाचार करते हुए चयनित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर न्यूट्री गार्डन का विेकास किया जा रहा है।
                                इस अभियान के अन्तर्गत आज नीमकाथाना शहर में रामलीला मैदान में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र पर सीडीपीओ संजय चेतानी की अध्यक्षता में आयोजित एक कार्यक्रम में पोषण वाटिका का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में सीबीईओ सत्यप्रकाश टेलर तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में एसीबीईओ हजारी लाल सैनी रहे। 
                                 
कार्यक्रम की जानकारी देते हुए हुए सीडीपीओ संजय चेतानी ने बताया कि वर्तमान युग में किचन गार्डन की संकल्पना तेजी से लोकप्रिय हो रही है, कोई भी व्यक्ति जिसके पास घर में थोड़ी सी भी अतिरिक्त भूमि है या घर की छत, बालकनी आदि में अल्प प्रयासों से ही किचन गार्डन लगा के वर्ष भर मनचाही ताजा सब्जियाँ प्राप्त कर सकता है, इन किचन गार्डन में सब्जियों हेतु जैविक खाद का प्रयोग किया जाता है। जिससे यह जहरीले रासायनिक कीटनाशकों के दुष्प्रभाव से दूर रहती हैं। इन पौष्टिक सब्जियों का प्रयोग करने वाले बच्चे भी कुपोषण से मुक्त होंगे। यदि प्रत्येक घर के आंगन तक फल-सब्जी के छोटे-छोटे गार्डन विकसित हो जाऐ तो प्रदेश में कुपोषण की समस्या बहुत हद तक कम हो सकती है।
                          नीमकाथाना ब्लाॅक के पचास आंगनबाड़ी केन्द्रों को वर्तमान में विख्यात औद्योगिक समूह वेदान्ता ने सीएसआर के अन्तर्गत नन्दघर के रूप में गोद ले रखा है। वेदान्ता के सहयोगी संस्थान हुमाना पीपुल टू पीपुल के फील्ड वर्कर्स की सहायता से केन्द्र पर क्यारियाँ आदि बनाई गईं तथा विभिन्न सब्जियों की पौध व बीज लगाये गये। इस अवसर पर महिला पर्यवेक्षक विमला वर्मा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ज्योति यादव, हुमाना संस्था के जिला समन्वयक योगेश कुमार, सुनीता, रूपा परमार, रिंकू, रणसिंह सहित अनेक व्यक्ति उपस्थित थे।
                                                               
                                                            

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।