नीमकाथाना@पाटन कस्बे के डाबला रोड पर स्थित देई माता मंदिर में जात देने वाले जातरुओ की भीड़ देखने को मिली है मंदिर पुजारी ने मंदिर के गेट बंद कर रखे हैं उसके बावजूद भी जात देने वाले जातरुओ ने मंदिर के बाहर ही चढ़ावा चढ़ा कर अपने नौनिहालों एवं गठ जोड़े की जात देकर माता से सुख शांति की मिन्नतें मांगी है। कोरोना संकट के चलते राज्य सरकार एवं प्रशासन ने सोशियल डिस्टेंस एवं मुंह पर मास्क लगाने के सख्त निर्देश दिए हैं उसके बावजूद भी सरकार एवं प्रशासन के नियमों की खुल्लम-खुल्ला धज्जियां उड़ती हुई दिखाई दे रही है।
मंदिर पुजारी ने मंदिर के कपाट बंद कर रखे हैं उसके बावजूद भी जात देने वाले जातरु मंदिर के गेट  पर ही चढ़ावा चढ़ा रहे हैं। जात देने वाले जातरुओ की भीड़ को देखकर लगता है कि इस भीड़ में अगर कोई कोरोना संक्रमित मरीज पाया गया तो क्षेत्र में कोरोना का भारी ब्लास्ट हो सकता है क्योंकि ये जातरु कोटपूतली, नीमकाथाना, नारनौल सहित अलग-अलग जिलों की अलग-अलग तहसीलों से आ रहे हैं। इन जातरुओ को न तो प्रशासन का कोई भय है और ना ही कोरोना संक्रमण का डर है । पुलिस प्रशासन ने भी कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं ताकि भीड़ पर नियंत्रण किया जा सके। इस बारे में जब मंदिर के पुजारी राकेश शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया हमने तो सरकार के आदेशों की पालना मैं मंदिर के गेट बंद कर रखे हैं परंतु अगर कोई जातरु माता के मंदिर में आता है तो हम उसको नहीं रोक सकते हैं। यह काम पुलिस प्रशासन का है हमने पुलिस प्रशासन को अवगत भी करवा दिया है।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।