नीमकाथाना@ थोई थाना अंतर्गत खिरोटी में वन विभाग की टीम पर गश्त के दौरान हमला करने का मामला सामने आया है जिसमें खनन माफियाओं ने बुधवार देर शाम वन विभाग के कर्मचारियों पर पत्थरों से हमला कर फॉरेस्टर जितेंद्र शेखावत व  घासी लाल जाट को घायल कर दिया। श्रीमाधोपुर क्षेत्रीय वन अधिकारी देवेंद्र सिंह राठौड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि बुधवार को वन क्षेत्र खिरोटी में गस्त के दौरान पत्थरों से भरी एक ट्रैक्टर ट्रॉली आ रही थी। ट्रैक्टर ड्राइवर को रोकने का इशारा करने पर नहीं रोका तो सामने गाड़ी लगाकर रुकवाया। पूछने पर ट्रैक्टर चालक ने नाम झाबरमल पुत्र भागीरथ मल गुर्जर निवासी नाका की ढाणी तन खिरोटी व उसके भाई महेंद्र व सीताराम भी मौजूद थे।
कर्मचारियों ने कार्रवाई शुरू की तो की खिरोटी निवासी कृष्ण, पप्पू भी वहां मौके पर आ गए। पांचों ने विभागीय टीम पर पत्थरबाजी की और गाली गलौज करते हुए धमकी देकर ट्रैक्टर ट्रॉली जबरन ले गए। टीम अंधेरे में पथराव के कारण आरोपियों का पीछा नहीं कर पाई। आरोपियों के खिलाफ वन सीमा में घुसकर अवैध खनन करने, कर्मियों पर जानलेवा हमला व राजकार्य में बाधा तथा राज्य संपत्ति को नुकसान, सीमा की पक्की दीवार तोड़ने, धारा 144 व वैश्विक महामारी एक्ट का उलंघन का मामला दर्ज करवाया गया। गौरतलब है कि अवैध खनन कर्ताओं के हौसले इतने बुलंद हो गए कि पिछले 12 दिनों में दूसरी बार जानलेवा हमला किया गया है। जिसमें महेंद्र व सीताराम के खिलाफ 28 मार्च को जबरन जेसीबी मशीन छुड़ाकर ले जाने पर जानलेवा हमला करने का मामला दर्ज है।