नीमकाथाना@पाटन थाना अंतर्गत ग्राम मीणा की नानगल के लोगों की शिकायतों पर परिवहन विभाग एवं खान विभाग की संयुक्त कार्यवाही से  पत्थरों से भरे पांच डंफरो को जप्त किया गया है। परिवहन निरीक्षक रामचरण मीणा ने बताया कि दलपतपुरा ग्राम पंचायत के सरपंच बलराम गुर्जर ने विगत रात्रि फोन पर बताया कि पांच पत्थरों से भरे ओवरलोड डंफरो को ग्राम मीणा की नांगल गांव के लोगों ने रोक रखा है जो गांव की सड़क से होते हुए जा रहे थे।
पांचो डंफरो के पास ना तो रवन्ना है और क्षमता से अधिक वजन भरा हुआ है, इस पर आज शुक्रवार को जब हम मीणा की नांगल गांव पहुंचे तो खनिज विभाग के माइनिंग फोरमैन चेतराम मीणा भी मौके पर उपस्थित थे। पांचों डंपरो का वजन करवाया गया जो औवरलोड की श्रेणी में नहीं आता है। वाहन चालको से जब वाहनों के कागज मांगे गए तो वाहन चालकों के पास कागज नहीं पाए गए ऐसे में सिर्फ कागजों का ही चालान किया गया है। खनिज विभाग द्वारा जांच के दौरान  पाया गया की खान मालिकों द्वारा जारी किए गए रवन्नाओं में वजन दस टन लिखा है जबकि डंपरों में वजन अधिक पाया गया उसका चालान कर पांचों डंपरों को जप्त किया गया है।
इस बारे में ग्रामीणों ने बताया कि खान मालिक रात्रि के समय हैवी ब्लास्टिंग करते हैं जो नियम विरुद्ध है तथा क्षमता से अधिक वजनों के डंपर गांव मीणा की नांगल होते हुए लाते हैं जिससे आए दिन दुर्घटनाएं घटती रहती हैं। इस बारे में पूर्व में भी स्थानीय प्रशासन को कई बार अवगत करवा दिया गया परंतु उनके द्वारा कोई कार्यवाही नहीं किए जाने से ग्रामीणों द्वारा यह सख्त कदम उठाया गया है।ग्रामीणों ने यह भी बताया कि खान मालिक कम वजन का रवन्ना जारी करते हैं तथा डंपरों में वजन अधिक होता है जिससे राजस्व को भी भारी नुकसान हो रहा है।परिवहन निरीक्षक रामचरण मीणा ने बताया कि गांव वाले चाहते हैं कि डंपर गांव की सड़कों पर नहीं चले और क्रेशर मालिक तथा खान मालिक चाहते हैं कि परिवहन विभाग हमारी मदद करें और हमारे वाहनों को चलाएं जिसको लेकर कई बार मौके पर भी पहुंचे परंतु ओवरलोड नहीं मिला तथा जो ओवरलोड मिलता है उन पर नियमानुसार कार्रवाई की जाती है। मेरे पास में खंडेला और नीम का थाना का प्रभार होने से दोनों इलाकों में जाकर जांच करनी पड़ती है परंतु मीणा की नांगल के लोग यह चाहते हैं कि परिवहन विभाग यहीं पर अपनी नौकरी करें जो नियमानुसार गलत है। इस बारे में मैंने स्थानीय प्रशासन व मेरे उच्चाधिकारियों को भी अवगत करवा दिया है परंतु मीणा की नांगल के लोग विभाग पर तरह तरह के बेबुनियाद आरोप लगाते हैं जो गलत है।