नीमकाथाना न्यूज़ के लक्की में ड्रा भाग लें

News Update

दिनदहाडे लूट को अन्जाम देने वाले आरोपी पुलिस की पकड से दूर

पुलिस अधीक्षक व विधायक ने ली घटना की जानकारी
शुक्रवार को बन्दुक की नौक पर चार लूटेरो ने दिया था वारदात को अन्जाम 
नीमकाथाना@शाहपुरा रोड पर स्थित वार्ड न. 9 आर्दश काॅलोनी में दिन दहाडे दो बाईको पर आये चार लुटेरो ने डावर ज्वैल्र्स की दुकान पर बन्दुक की नौक पर वारदात को अन्जाम दिया था। दुकान में बैठे मालिक रमेश कुमार सोनी के पिता द्वारका प्रसाद सोनी व पौत्र पुनित सोनी से पहले तो लूटेरो ने रमेश कुमार सोनी के बारे में पूछा इस पर रमेश के पुत्र पुनित सोनी ने बताया कि वो बाहर है।
लुटेरो ने द्वारका प्रसाद सोनी के सिर पर बन्दुक की बट से वार कर दिया ओर दुकार में रखे सोने व चांदी के आभूषण लेकर फरार हो गये। तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस लुटेरो तक नही पहुच पाई है। विधायक सुरेश मोदी रविवार को नगरपालिका चेयरमैन त्रिलोक दीवान, काला कोटा धाम के सन्त बलदेव दास महाराज, महेश मैगोतिया, पूर्व प्रधान कान्ता प्रसाद शर्मा, नरेश टेलर सहित दर्जन भर कार्यकर्ताओ के साथ रमेश कुमार सोनी के धर पहुचे तथा पूरी जानकारी जुटाई। द्वारका प्रसाद सोनी ने विधायक को लूट की वारदात का पूरा प्रकरण बताया। विधायक ने कहा कि इस बारे में मुख्यमंत्री से बात की जायेगी व क्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये जायेगे। इधर इस प्रकरण की पूरी मोनेट्रींग सीकर पुलिस अधिक्षक डाॅ.गगनद्वीप सिंह सिंगला के नेतृत्व में की जा रही है। जिस ज्वेलर्स की दुकान में लूट की वारदात हुई है उस ज्वेलर्स के चाचा रामावतार सोनी नीमकाथाना के उपपुलिस अधिक्षक है।
इससे साफ जाहीर होता है कि चोरो में पुलिस का भय खत्म हो चुका है। प्रदेश में इन दिनो लूटपाट, चोरी , डकैती की घटनाये दिन प्रतिदिन बढती जा रही है तथा गृह मंत्रालय स्वयं मुख्यमंत्री के पास में है। ऐसे में पुलिस की नाकामी पर सवालिया निशान उठ रहे है। बहरोड में पपला गुर्जर अभी पुलिस के लिए नासुर बना हुआ है वहीं नीमकाथाना व खण्डेला की लूट भी पुलिस के लिए सिर दर्द बन चुकी है। धटना के बाद से ही क्षेत्र के लोगो व व्यापारियो में भय का माहौल बना हुआ है। एक सप्ताह बाद दिपावली आने वाली है परन्तु नीमकाथाना के बाजार में कोई चहल पहल नजर नही आ रही है। सीकर पुलिस अधिक्षक आज रविवार को नीमकाथाना पहुचकर डावर ज्वैल्र्स में हुई लूट की बारिकियो से सर्चिग की तथा इस प्रकरण की जांच में जूटी चार थानो की पुलिस जिसमें पाटन थाने से थानाधिकारी नरेन्द्र भढाणा, नीमकाथाना सदर थाने से मनीष सिंह, कोतवाली से करण सिंह, अजितगढ थाने से सवाई सिंह को दिशा निदेश दिये। वहीं नीमकाथाना के अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक दिनेश अग्रवाल व उपपुलिस अधिक्षक रामावतार सोनी भी आरोपियो को शीध्र गिरफ्तार करने की रणनीति बनाने में लगे है।
header ads