कोतवाली थाने में पशु क्रूरता अधिनियम के तहत रिपोर्ट दी, मोके पर तहसीलदार ने मामले को करवाया शांत
नीमकाथाना@नगरपालिका क्षेत्र में जीप स्टेण्ड पर नगरपालिका कर्मचारियों की अनदेखी के चलते कचरे के ढेर में आग लगने से गाय का बछड़ा जलने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार जीप स्टेण्ड के पास अस्थाई कचरे का ढेर लगा हुआ था सुबह नगरपालिका का ऑटो कचरा खाली करके चला गया। जिसमें गाय का बछड़ा था ऑटो चालक के कचरे में गाय का बछड़ा डाल कर चला गया। वही कचरे के ढेर में आग लगी हुई थी। आसपास के लोगो ने देखा तो प्रशासन को सूचना दी।
मौके पर इस दौरान शिव सेना, बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं ने नगरपालिका के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जाहिर किया। क्षेत्र के लोगों की मांग है कि तुरंत नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को यहां से निलंबित करते हुए हटाया जाए और दोषियों के विरुद्ध जांच कर शक्त से शक्त सजा दिलाने की कार्रवाई की जाए क्षेत्र के लोगों ने तय किया है कि यदि 24 घंटे में अधिशासी अधिकारी को निलंबित कर नहीं हटाया जाता है तो बड़ा आंदोलन करके नगर पालिका और राज्य सरकार का विरोध किया जाएगा।
क्षेत्र की शांति व्यवस्था भंग होने की पूरी संभावना है। पशु चिकित्सक को बुलाकर जली हुई गाय का पोस्टमार्टम करवाया तथा दोषियों के विरुद्ध शीघ्र कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए जली हुई गो माता का सम्मान के साथ अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया है। सूचना पर तहसीलदार ब्रजेश अग्रवाल मय जाब्ते मौके पर पहुचकर मामले को शांत करवाया और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही का आश्वाशन दिया। वहीं सांवलराम यादव ने कोतवाली थानाधिकारी करणसिंह को एफआईआर के लिए प्रार्थना पत्र देते हुए नगरपालिका अधिशासी अधिकारी जमादार तथा अन्य जिम्मेदार लोगों को दोषी मानते हुए उनके विरुद्ध धारा 329 पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करने हेतु लिखा थाना प्रभारी ने लोगों के आक्रोश को देखते हुए तुरंत मुकदमा दर्ज किया। जिला कलेक्टर एसडीएम तहसीलदार सभी को इस आपराधिक कृत्य की सूचना दी गई। इस दौरान शिव सेना के पूर्व जिला प्रमुख नरेंद्र सिंह मोगा, मोहनलाल, नरेश शर्मा, लखन लालवानी सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।