नीमकाथाना न्यूज़ के लक्की में ड्रा भाग लें

News Update

कुशवाहा महासभा का खुला अधिवेशन संपन्न, नारीशक्ति पर जोर दिया


नीमकाथाना-
अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा की 54वीं राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति का खुला अधिवेशन संपन्न हुआ। जिसमें 22 राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। महासभा में पधारे सभी का माला व साफा पहनाकर स्वागत किया। सभी वक्ताओं ने अपने अपनंे विचार प्रकट किए।  सभी ने निर्णय किया कि समाज व्याप्त चार गोत्रों के रिश्ते को हटाकर दो गोत्रों में ही संबध करने का निर्णय लिया गया।
कार्यक्रम में बिहार सरकार के पूर्व मंत्री बसावन प्रसाद कुशवाहा ने संबोधित करते हुए कहा कि अंतराज्यी विवाह के लिए नारी शक्ति से आग्रह किया कि आज के युग में घंुघट का युग नहीं हैं। नारी पुरूषों से दो गुना ताकतवर हैं। वहीं बिहार संरकार के खाद्य विभाग अध्यक्ष एवं महासभा सचिव नंदकिशोर कुशवाहा ने कहा कि आज के युग में शादी बिना दहेज से करनी चाहिए। प्रदेशाध्यक्ष ने कार्यक्रम के समापन का भाषण दिया। इस दौरान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव गजानंद सैनी, राष्ट्रीय अध्यक्ष कुशवाहा राकेश महतों, विनोद कुशवाहा, विरेन्द्र सिंह,  अवनेश, नरेश, जीपी पटेल, नंदकिशोर, नीरज, शंकर, बैधनाथ, श्याम सिंह, गंगासागर, भूपेन्द्र, अटल बिहारी, संतोष गीता कुशवाहा, ललीता, राजेन्द्र मौर्य, सहित अनेक लोग मौजूद रहे।
header ads