नीमकाथाना@खनन माफियो द्वारा ग्रामीणों को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देने एव गलत तथ्यों के आधार पर आवंटित खनन पट्टों की जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से करवाने को लेकर भराला एव खारड़ा के ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व सैकड़ों ग्रामीणों ने उपखंड कार्यालय पर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का कहना है कि जल्द समस्या का समाधान नहीं हुआ तो आंदोलन करेंगे।
समाजसेवी कैलाश मीणा ने बताया भराला एवं खारड़ा में 3 साल पहले अवैध रूप से चल रही खदानों को बंद कर दिया गया था उन खदानों को फिर से चालू किया जा रहा है और खनन को लेकर पट्टे जारी किए गए हैं वह गलत तथ्यों के आधार पर आवंटित किए गए हैं इसकी जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से कराने की मांग की वही खनन कार्य में लगे असामाजिक तत्वों ने सरेआम ग्रामीणों को इसके परिणाम भुगतने और झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। और जिन अधिकारियों ने जो गलत पट्टे जारी किए हैं उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।  इस दौरान सैकड़ों लोग मौजूद रहे।