नीमकाथाना: प्रयास कर, फिर कर, फिर फिर कर के देख। कभी ना कभी तो बुझे हुए परेशान चेहरों पर मुस्कान तो आएगी। यह कथन उचित बैठता है नीमकाथाना नगरी के युवा अखंड धुनी, समाज के अंतिम व्यक्ति को खुशहाल बनाने की जिद को जुनून में बदले युवा समाजसेवी राजेश कुमार मंगावा पर। अक्सर समय पर खून की पूर्ति न हो पाने के कारण लोग अपनी जान से हाथ धो बैठते है। आॅपरेशन के दौरान या खून की कमी के चलते मरीज के तीमारदारों को ब्लड खरीदने के लिए दलाल गुमराह करते है। किसी भी मरीज की खून की कमी के दौरान मौत न हो इसके लिए राजेश मंगावा ने पिछले दो साल पहले मुहिम छेड़ी।
लोगों को ब्लड की कमी पूरा कराना इनका मकसद बन गया। मरीज की जरूरत पर राजेश मंगावा ने एक फोन पर उन्हें समय पर ब्लड उपलब्ध कराया। आज राजेश मंगावा करीब हजार से अधिक लोगों को अपने ग्रूप के माध्यम से ब्लड उपलब्ध करा चुके है। साथ- साथ किसी भी जरूरतमंद की हर परेशानी में सहायता करते हैं। जीवनधारा ग्रूप से बहुत से लोग जुड़े हुए है जो मरीज को सीधे अस्पताल पहुँचकर रक्तदान करते है। कल ही लीवर की समस्या से जूझ रहे वसंत कुंज, साउथ दिल्ली के एक अस्पताल में भर्त्ती बसंत मिश्र को B+ ब्लड की जरूरत पड़ने पर राजेश मंगावा ने एक परिचित विशाल कुमार को अस्पताल भेजकर रक्तदान करवाया उसके बाद ही मरीज का आॅपरेशन चालू हुआ।
Share on Facebook

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।