ओवरलोड़ वाहनों पर कार्यवाही नहीं होने से लोगों में प्रशासन के प्रति रोष


पाटन-मीणा की नांगल माइनिंग जॉन से प्रतिदिन सैकड़ों ओवरलोड ट्रोले जिनमें 80 से 100 टन का वजन होता है दौड़ रहे हैं। यह सड़क 30 टन की बनाई गई है जिसपर 80 से 100 टन के ओवरलोड ट्रोले दौड रहे हैं। ओवरलोड के कारण सड़क भी क्षतिग्रस्त होने के कगार पर पहुंच गई है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत परिवहन विभाग को भी की थी, परंतु परिवहन विभाग द्वारा भी इस पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पाया। आए दिन सैकड़ों ओवरलोड ट्रोले मीणा की नांगल माइनिंग जॉन से होते हुए  रामपुरा, दलपतपुरा होते हुए नांगल चैधरी निकल जाते हैं जिस कारण रोड जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होने लगी है। यही नहीं इन ओवरलोड ट्रोलो  के कारण आए दिन दुर्घटनाओं का अंदेशा भी बना रहता है। ग्रामीणों ने बार-बार इन वाहनों के खिलाफ कार्रवाई के लिए भी मांग भी की परंतु अभी तक इन वाहनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। जिस कारण ग्रामीणों में विभागीय अधिकारियों के खिलाफ रोष व्याप्त है।

Previous Post Next Post
  विज्ञापन…  
  विज्ञापन…