नीमकाथाना- सदर पुलिस ने वाहन चोर गिरोह को पकड़ने में बडी सफलता हासिल की है। सदर थाना अधिकारी कमल कुमार ने बताया कि पुलिस ने गणेश्वर-भूदोली के बीच एक सार्वजनिक खंडहर से चोरी की 13 बाइक व दो स्कूटी बरामद की हैं। गिरोह का सरगना न्यौराणा निवासी मुनेश कुमावत फरार हो गया। एक नाबालिग को निरुद्ध करने के साथ पुलिस ने एक आरोपी को प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया है। पूछताछ में बाइक चोरी की 22 वारदातों का खुलासा हुआ हैं। नाबालिग को किशोर न्याय बोर्ड भेजा गया है। बाइक चोरी में गिरफ्तार नानगवास निवासी सुनील पुत्र गोकुल गुर्जर से पुलिस पूछताछ कर रही हैं। तीनों आरोपी रात के समय बाइक चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। उसके बाद 4-5 हजार रुपए में दूसरे जिलों में बाइक बेच देते थे।
सदर पुलिस ने बाइक चोर आरोपी को गिरफ्तार किया
आरोपी बीते दो साल से बाइक चोरी की वारदातें कर रहे हैं। बाइक चोरी करने के बाद गणेश्वर-भूदोली के बीच खंडहर में छिपा देते थे। कुछ दिन बाद उसको दूसरे जिले में भेज देते थे। आरोपियों ने दो महीने पहले पहले जयपुर में करणी प्लेस के बाहर से एफजेड बाइक चोरी की थी। जिसको नाकाबंदी के दौरान दौलतपुराटोल के पास पुलिस ने एमवी एक्ट में जब्तकर लिया था। आरोपी सुनिल ने कोटपूतली से 5, जयपुर से दो, कोतवाली नीमकाथाना से 5, सदर नीमकाथाना से 2 एवं चौमू-अजीतगढ़ के बीच से दो बाइक चोरी करना कबूला है। पुलिस सरगना मुनेश की तलाश में लगी है। नीमकाथाना, कोटपूतली, शाहपुरा, जयपुर व अजीतगढ़ में बाइक चोर गिरोह वारदात को अंजाम देता था। सीसीटीवी में भी इनकी वारदातें रिकॉर्ड हुई हैं। मुख्य आरोपी मुनेश कुमावत मास्टर चाबी से बाइक के ताले तोड़ता था। उसके बाद सुनील व उसका नाबालिग साथी बाइक को ले जाते 
थे। दोनों सीधे चोरी की बाइक को खंडहर में पहुंचाते थे। यहां से मुनेश दूसरे जिले में बाइक बेचने के लिए अपराधियों से संपर्क करता था। वही दूसरी ओर नाबालिक पॉक्सो एक्ट में निरुद्ध हुआ था ।