Update Your App Now

News Update

कन्या भ्रूण हत्या की घटना समाज के लिए अभिशाप- डाॅ. अनुराधा सक्सैना

नीमकाथाना- पंचायत समिति के सभागार में ग्राम साथिनों की
मीटिंग का आयोजन महिला अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक डाॅ. अनुराधा सक्सैना की अध्यक्षता में किया गया। मीटिंग में नीमकाथाना व पाटन ब्लाॅक की कुल 54 ग्राम साथिनों ने भाग लिया। मीटिंग को सम्बोधित करते हुए डाॅ. सक्सैना ने साथिनों को नियमित रुप से जाजम बैठकों का आयोजन करने तथा बैठकों में विभिन्न सामाजिक कुरीतियों तथा बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या, पर्दा प्रथा, बालिकाओं की षिक्षा आदि पर चर्चा करने के निर्देश दिये। उन्होने पीसीपीएनडीटी एक्ट पर चर्चा करते हुए कन्या भ्रूण हत्या की घटनाओं को समाज के लिए अभिशाप बताया तथा साथिनों से आग्रह किया कि वह अपने-अपने क्षेत्र में कन्या भ्रूण हत्या की घटनाओं पर निगाह रखें। इस सम्बन्ध में उन्होने मुखबिर योजना के प्रावधानों के सम्बन्ध में चर्चा करते हुए बताया कि आप कन्या भ्रूण हत्या से सम्बन्धित कोई भी घटना उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाती हैं तो आपका नाम पूर्ण रुप से गुप्त रखा जाएगा।
सीडीपीओ संजय चेतानी ने नीमकाथाना ब्लाॅक में वेदान्ता समूह के सहयोग से किये जा रहे नवाचारों के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में वेदान्ता समूह ने नंदघर योजना के तहत गोद लेकर उनका रिनोवेशन  का कार्य किया जा रहा है, इन चयनित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर समूह द्वारा बालकों के अनुकूल चित्रांकन, सोलर लाइट आदि की व्यवस्था की गई है। सभी केन्द्रों पर बाल अनुकूल फर्नीचर की आपूर्ति भी शीघ्र ही समूह द्वारा की जानी प्रस्तावित है। क्षेत्र के पाटन ब्लाॅक में लाख के चूड़े बनाने के कार्य को अधिक कुशलतापूर्वक और वैज्ञानिक ढंग से करने हेतु वेदान्ता समूह द्वारा एक विस्तृत ट्रेनिंग कार्यक्रम शुरु किया जाना भी प्रस्तावित है। सहायक निदेषक डाॅ. सक्सैना ने निर्माणाधीन धन लक्ष्मी केन्द्र का विज्टि भी किया तथा इसका कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये। इस दौरान अरुणा राजपूत और राष्ट्रीय पोषण अभियान के ब्लाॅक काॅर्डिनेटर अंशुल श्रीवास्तव भी उपस्थित रहे। 
header ads