नीमकाथाना/पाटनः-हसामपुर की शहीद प्रमोद कुमार राजकीय सीनियर उच्च माध्यमिक विद्यालय में विज्ञान विषय नहीं होने के कारण से बच्चें दर दर भटक रहे हैं। भामाशाह ने मिलकर करोड़ों रुपए स्कूल के लिए खर्च किए क्योंकि पूर्व में शिक्षा विभाग ने साइंस विषय के लिए अपर्याप्त भवन बताया था। भामाशाह द्वारा अब काफी भवन निर्माण करें यह काम भी पूर्ण कर दिया है किंतु केवल प्रशासन और राजनीति के विच हस करें रह गए यह उम्मीद।  ग्राम पंचायत हसामपुर सरपंच विजेंद्र सिंह तंवर के साथ एक शिष्टमंडल शिक्षामंत्री डोटासरा एवं स्थानीय विधायक से मिलकर लिखित में साइंस विषय की खुलवाने की गुहार लगाई। किंतु वर्तमान इस स्थिति में अभी कोई संभावना पूरी होती नजर नहीं आ रही।
 विद्यालय में तकरीबन पांच सो बच्चे अध्ययन करें रहे हैं जिनमें अधिकतर बालिकाओं की संख्या अधिक है। इस सत्र का दसवीं कक्षा का परिणाम सत प्रतिशत रहा है। एवं 92 प्रतिशत बालिका ने अंक हासिल कर श्रेष्ठ परिणाम अन्य स्कूलों से अच्छा दिया है। गरीब परिवार की एक कबाड़ी का काम करने वाले दयाराम की पुत्री कुमकुम का परिणाम 92 प्रतिशत रहा है। आगे यह बालिका साइंस सब्जेक्ट लेना चाहती है किंतु एक गरीब परिवार का बच्चा ग्राम पंचायत में सरकारी विद्यालय में विज्ञान संकाय नहीं होने से निजी विद्यालयों में आर्थिक तंगी के कारण विज्ञान सब्जेक्ट नहीं ले सकता। ऐसे कितने हैं बालक एवं बालिकाओं हैं जो अरमान आसमान छूने का रखते हैं किंतु हालात एवं प्रशासन एवं राजनीति की आंखों पर पट्टी होने के कारण यह बच्चे अपनी मेहनत करके मुकाम हासिल नहीं कर सकते।


Join Whatsapp Group

नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।