नई दिल्ली- दिल्ली पुलिस ने धोखाधड़ी करने वाले बाप बेटे को गिरफ्तार किया है। ये दोनों खुद को नासा का वैज्ञानिक बताकर लोगों से ठगी करते  थे । आरोपी निवेशकों को बतात थे कि वो एक ऐसी मशीन बना रहे हैं जिसे वो अमरेिका की स्पेस एजेंसी नासा को 37,500 करोड़ रुपए में बेचने वाले हैं ।


क्राइम ब्रांच ने नरेंद्र सैनी नाम के कपड़ा व्यापारी की शिकायत पर वीरेंद्र मोहन बरार और उसके बेटे बाबा बरार को गिरफ्तार किया है। छापेमारी में आरोपियों के पास से कॉपर प्लेट, एंटी रेडिएशन सूट, एंटी रेडिएशन केमिकल स्टिकर, लैपटॉप, प्रिंटर, फॉरेन चेकबुक, फेक आईडी कार्ड और एक ऑडी कार बरामद हुई है। कपड़ों के बारे में पुलिस ने उनसे जब पूछा तो बाप-बेटे नेस्वीकार किया कि 1200 रुपए में दिल्ली के चांदनी चौक से अंतरिक्ष यात्री की ड्रेस ख़रीदा था।

दिल्ली, यूपी समेत 30 लोगों से कर चुके हैं ठगी पुलिस के मुताबिक आरोपी कहते थे कि वो राइस पुलर नाम की एक मशीन तैयार कर रहे हैं जिसका इस्तेमाल कर प्राकृतिक बिजली से घरों में इस्तेमाल होने वाली बिजली बनाई जा सकती है।

आरोपियों का दावा था कि मशीन तैयार होने के बाद वो उसे डीआरडीओ के माध्यम से नासा को बेचेंगे। पुलिस ने बताया कि फ्रॉड बाप-बेटे की जोड़ी ने दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड से कम से कम 30 लोगों को अपना शिकार बनाया है।

इससे पहले भी पकड़े जा चुके हैं दोनों : 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों (बाप-बेटे) पहले भी कई बार फ्रॉड के आरोप में गिरफ्तार हो चुके हैं। लेकिन जेल से बाहर आने के बाद वो फिर लोगों को ठगने लगते हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपी दिल्ली के पॉश मीरा बाग इलाके में 60 हजार रुपए महीने किराए के घर में रहते थे। वो ऑडी कार से दो पर्सनल सिक्योरिटी गार्ड्स के साथ चलते थे। दिल्ली में इनके 7 ऑफिस हैं। 

नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।