बंद के दौरान नीमकाथाना में डेढ़ दर्जन वाहन जलाए, एएसपी सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल

नीमकाथाना न्यूज़- एससी, एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में दलित संगठनों के आह्वान पर सोमवार को सीकर बंद रहा। सीकर शहर, नीमकाथाना, अजीतगढ़ सहित कई इलाकों में उपद्रव हुआ। नीमकाथाना में पुलिस व बंद समर्थकों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई। इससे राहगीर दहशत में आ गए। बंद समर्थकों ने पुलिस जीप सहित डेढ़ दर्जन वाहनों को आग के हवाले कर दिया।


एएसपी धनपत राज, एसआई मनोज चनेजा सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी व अन्य लोग घायल हो गए। एएसपी को गंभीर हालत में जयपुर रैफर कर दिया गया। बंद समर्थकों ने कांग्रेस कार्यालय के बाहर खड़ी स्कॉर्पियो, दो बोलेरो व बाइक को आग लगा दी गई।

कई जगह रोडवेज बसों में भी तोड़ फोड़ की गई। प्रदर्शनकारियों को खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।

खेतड़ी मोड पर धारा 144 लागू कर दी गई। हालात तनावपूर्ण हो गए। पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए रबर बुलेट से हवाई फायर किया।  जिले भर से पुलिस ने करीब 30 को शांतिभंग में गिरफ्तार किया।

नीमकाथाना में बंद समर्थको ने रैली निकाल कर दुकानदारों से की जबरदस्ती 

नीमकाथाना में बंद समर्थक रैली निकाल कर जबरन दुकानें बंद करवाने लगे। इसी दौरान व्यापारियों व अन्य लोगों के साथ नोकझोंक हो गई। बीच-बचाव व समझाईश के लिए पहुंची पुलिस पर भी बंद समर्थकों ने पथराव शुरू कर दिया।


पुलिस ने लोगों काे खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज शुरू किया तो उपद्रवियों ने पुलिस जीप सहित आधा दर्जन वाहनों को आग लगा दी। कई बसों के कांच तोड़ दिए। पथराव के दौरान एएसपी धनपत राज सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी व अन्य लोग घायल हो गए।

पुलिस के जवानों ने पेट्रोल पंप के पीछे घर में छिपकर बचाई जान 

हालात यह हो गए कि पुलिस के जवानों ने पेट्रोल पंप के पीछे घर में छिपकर जान बचाई। बाद में आरएसी जाप्ता बुलाया गया। उपद्रवियों ने पेट्रोल पंप को आग लगाने का प्रयास किया व कई घरों में तोडफ़ोड़ की। कपिल मंडी, कपिल अस्पताल के सामने व खेतड़ी मोड़ पर दिनभर हालात तनावपूर्ण रहें।


बंद समर्थकों ने ब्लॉक कांग्रेस कार्यालय के सामने व अंदर खड़ी गाड़ियों में आग लगा दी। भाजपा विधायक प्रेम सिंह बाजौर के कार्यालय बाजौर हाउस के शीशे तोड़ दिए। तीन चौपहिया व एक दर्जन बाइक जला दी।

पुलिस जीप को किया आग के हवाले 

प्रदर्शनकारियो ने खेतड़ी मोड़ पर पुलिस जीप को आग के हवाले कर दिया। खेतड़ी मोड़ पर पुलिस मौके पर पहुंची तो उपद्रवियों ने पथराव शुरू कर दिया। हालात बिगड़ते देखकर पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए अांसू गैस के गोले दागे व पैलेट गन से फायर भी किए।

प्रदर्शन के दौरान पुलिस कर्मियों की तादाद भी कम थी जोकि भीड़ को काबू नहीं कर सकी। पंप पर खड़ी पुलिस जीप को 25 मीटर दूर ले जाकर लगाई आग पथराव के दौरान पुलिस ने जीप को पेट्रोल पंप पर सुरक्षित खड़ा कर दिया था।

इसके बाद उपद्रवी पत्थर बरसाते हुए पंप तक आ गए। उन्होंने गाड़ी में तोड़फोड़ शुरू कर दी। बाद में जीप को पलटी देकर उसे सड़क पर ले आए और करीब 25 मीटर दूर उसे खेतड़ी मोड़ चौराहा तक ले गए। यहां जीप को आग लगा दी। प्लास्टिक के बेरिकेड्स जला दिए। यहां दाे बाइक भी फूंक दी। व्यापारी व बंद समर्थक भी आमने-सामने हो गए। जिससे करीब आधा दर्जन अन्य लोगों को भी चोटें आई हैं।

करीब तीन घंटे बाद पुलिस के साथ शहर के लोगों ने हाथों में लाठियां लेकर हालात पर काबू पाया। हंगामे के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने छात्राओं व महिलाओं के साथ भी अभद्रता की। पुलिस हंगामे पर काबू पाने में पूरी तरह नाकाम सािबत हुई।

यह भी पढ़ें - नीमकाथाना दूसरे दिन भी बंद रहा, 24 के खिलाफ मामला दर्ज

नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।