नीमकाथाना नगर पालिका द्वारा अलग-अलग कॉलोनियों में नीलामी के जरिए अलॉट व आवंटित भूखंडों के पट्टे नहीं मिलने के मसले पर गुरुवार को नगर पालिका की साधारण सभा की बैठक में विस्तार से चर्चा हुई। पालिकाध्यक्ष त्रिलोक दीवान ने वर्षों से लंबित पट्टों के प्रकरण सदन में रखे। लंबित प्रकरणों में पट्टे जारी करने के निर्देश व नियमों के बारे में जानकारी दी।


सदस्यों ने कहा कि बड़ी संख्या में लोग पट्टों के लिए वर्षों से घूम रहे हैं। ऐसे में पूरी रिपोर्ट भेजकर डीएलबी से नियमों में छूट की मांग की जाएगी। सुविधाघरों की सफाई में गड़बड़ी का मसला उठाते हुए सदस्यों ने भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। इस पर 20 मिनट तक बहस होती रही।

सदस्यों ने कहा कि बिना शौचालयों की सफाई भुगतान किया गया। दीवान ने कहा कि पार्षदों की अभिशंषा पर ठेकेदार को भुगतान हुआ। बाद में संपूर्ण सफाई के लिए विपक्ष के नेता महेंद्र गोयल को नियम व ठेका प्रणाली निर्धारित करने का अधिकार दिया गया।

पार्षद महेन्द्र गोयल व जयप्रकाश लोढ़ा ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सामने लोगों की पीड़ा रखी थी। रेलवे बुगदा के पास गंदे पानी के भराव पर भूमि का किराया देने के मसले में रिपोर्ट डीएलबी को भेजने का निर्णय किया गया।

प्राइवेट बस स्टैंड निर्धारित करने का मामला मास्टर प्लान तैयार होने तक लंबित कर दिया गया। पालिका द्वारा पूरे शहर का मास्टर प्लान फिर से तैयार कराया जा रहा है।

पालिकाध्यक्ष दीवान ने सदन को इसकी जानकारी दी। चर्चा में महेन्द्र गोयल, जयप्रकाश लोढ़ा, जयचंद डांगी, गिरधारी मीणा, शशिकांत मोदी, छगनलाल गुर्जर, होशियार सिंह लांबा आदि शामिल हुए।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।